रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। रायपुर रेल मंडल का तकनीकी अमला आरवी ब्लाक हट तक वाल्टेयर लाइन का दोहरीकरण का काम तेज गति से कर रहा है। मंडल की कोशिश है कि नवंबर तक मंदिर हसौद-लखौली सेक्शन दुरुस्त कर लिया जाएगा। इसके बाद पर नवा रायपुर रेल लाइन पर ट्रेनें दौड़ने का रास्ता साफ हो जाएगा। रेल विकास निगम वर्तमान में सिंगल पटरी वाली वाल्टेयर रूट को डबल बनाने में लगा है।

रायपुर स्टेशन तक बेसमेंट के लिए जमीन समतल कर ली गई है, परंतु अभी उस पर पटरी नहीं बिछी है। ऐसा दायरा करीब 20 से 25 किमी का है। इसी काम के लिए रेलवे प्रशासन ने 17 सितंबर तक लखौली-रायपुर आरवी ब्लाक हट रेलखंड के बीच दोहरीकरण और नान इंटरलाकिंग के लिए ब्लाक लिया था। इस लाइन से ही मंदिरहसौद के पास नवा रायपुर होकर केंद्री तक 20 किमी लाइन कनेक्ट होगी। लखौली सेक्शन से रायपुर तरफ विद्युतीकरण भी किया जाना है।

25 किमी पटरी बिछाने की तैयारी

रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि रेल विकास निगम सिंगल पटरी वाली वाल्टेयर रूट को डबल बनाने में लगा है। रायपुर स्टेशन तक बेसमेंट के लिए जमीन समतल कर करीब 25 किमी तक पटरी बिछाने की तैयारी है। वाल्टेयर रूट पर लखौली तक की रेल लाइन रायपुर रेल मंडल में 2010 में शामिल हुई है। इससे पहले यह पूरी रेल लाइन संबलपुर रेल डिवीजन के अंतर्गत थी।

सिंगल पटरी होने के कारण एक ट्रेन निकलने के बाद ही दूसरी ट्रेन चलाई जाती है, परंतु अब रेल लाइन डबल होने के बाद बिना रोके ही दोनों तरफ से ट्रेनों की आवाजाही हो सकेगी। गौरतलब है कि पुराने रायपुर और नवा रायपुर क्षेत्र को रेल लाइन से जोड़ने का काम 2015-16 में 100 करोड़ की लागत से शुरू किया गया था। इस लाइन से ही मंदिरहसौद के पास नवा रायपुर होकर केंद्री तक 20 किमी लाइन को जोड़कर लखौली सेक्शन से रायपुर तरफ विद्युतीकरण करने की पूरी तैयारी कर ली गई है।

मंदिर हसौद-लखौली सेक्शन से केंद्री तक ट्रेन चलाने के लिए तेज गति से दुरुस्त करने का काम चल रहा है। कोशिश है कि जल्द से जल्द रहवासियों को ट्रेन की सुविधा मिल सके।

-शिव प्रसाद, वरिष्ठ प्रचार निरीक्षक,रायपुर रेल मंडल

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close