रायपुर। फिल्म पुष्पा का डायलाग झुकेगा नहीं साला, सब को तो पता ही होगा। इन दिनों पुलिस विभाग के एक दो स्टार पर यह डायलाग जम रहा है। वे को कह भी रहे हैं कि साला झुकेगा नहीं। दरअसल, हुआ यूं कि कुछ थाना प्रभारियों और एक एसआइ की शिकायत गुमनाम व्यक्ति ने गृहमंत्री से कर दी। इन पर सही तरीके से काम नहीं करने और भ्रष्ट पुलिस अधिकारी बताकर शिकायत की गई।

मंत्री जी के पास शिकायत पहुंचते ही, जिन-जिन का नाम था उनसे स्पष्टीकरण मांगा गया। फिर क्या था एसआइ के लिए यह शिकायत तो सोने में सुहागा जैसे हो गई। एसआइ ने पांच पन्नो में स्पष्टीकरण तैयार किया। उसमें रायपुर में अलग-अलग थाने में रहते हुए किए गए काम को गिनती गिना डाली। अब देखना यह है कि गुमनाम व्यक्ति की शिकायत के जवाब कार्रवाई होगी या फिर इनाम मिलेगा।

साहब हम तो ड्यूटी कर रहे थे, लाइन क्यूं भेज दिया

रायपुर में पदस्थ एएसआई को ड्यूटी ईमानदारी से निभाना पिछले दिनों भारी पड़ गया। ईमानदारी से ड्यूटी निभाने का असर यह मिला, कि तत्काल उसको लाइन अटैच की प्रक्रिया से गुजरना पड़ा। हुआ यूं, कि राजधानी के वीआइपी क्षेत्र के थाने में पदस्थ एएसआइ की पिछले दिनों नाइट ड्यूटी थी। ड्यूटी के दौरान जब वो राउंड पर थे, समय बीतने के बाद भी कुछ के शटर खुले हुए थे।

कारोबारी अपनी दुकान खोला हुआ था। एएसआइ गश्त पर निकले तो शटर गिराने की बात बोलकर आगे बढ़ गए। एक घंटे बाद इलाके का राउंड मारकर आए तो दुकान को फिर खुली हालत में देखा। दुकानदार को एएसआइ की ये कार्यप्रणाली नागवार गुजरी तो उन्होंने अपने करीबी अफसरों को बढ़ा चढाकर शिकायत कर दी। अफसरों ने कारोबारी की शिकायत सुनी और तत्काल एएसआइ को लाइन भेज दिया। अब कारोबारी थाने कांस्टेबल, हवलदार को अपना रसूख बता रहा है और रात एक बजे दुकान खोलकर कारोबार चला रहा है।

पूजा पाठ के बाद थाना क्षेत्र में शांति

राजधानी में मशहूर थाना प्रभारी पूजा पाठ के भरोसे अपनी थानेदारी चला रही है। पूजा पाठ कराने का जो कारण पता चला, वो भी हास्यास्पद है। हुआ यू, कि राजधानी के आउटर में गंभीर अपराधों की वारदातें बढ़ी हैं। 10 दिन भी नहीं बीत रहा था कि एक लाश मिल जाती। आंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने से पहले दूसरा शव मिलने से मामले पेडिंग होते जा रहे थे।

इससे अफसरों की फटकार थाना प्रभारी को रोज सुननी पड़ रही थी। फटकार ज्यादा ना पड़े और इलाके का अपराध ग्राफ ना बढ़े, इसलिए थाना प्रभारी ने पूजा पाठ करवाया है। पूजा पाठ का असर भी हुआ और हत्या नहीं हुई और पुराने मामले का भी राजफाश हो गया। थाना प्रभारी के पूजा पाठ की चर्चा अब पुलिस महकमें में हो रही है।

मंडी का मास्टर माइंड बना सिर दर्द

राजधानी में हाइप्रोफाइल बैंक ठगी की घटना अफसरों के सिर का दर्द बनती जा रही है। पुलिस ने मामले में अब तक आठ आरोपियों पर कार्रवाई की है। सभी आरोपित एक दूसरे को घटना का मास्टर माइंड बता रहे हैं। इतने बड़े फर्जीवाड़ा के मामले में कहीं न कहीं बोर्ड से जुड़े लोगों का हाथ है। जुबान दबाकर काना फुसी भी चल रही। कोई खुलकर बात नहीं कर रहा।

इधर बात करें तो आरोपियों ने एक दूसरे को मास्टर माइंड बताने सेविवेचना अधिकारी पैसा नहीं निकलवा पा रहे हैं। मामले में पुलिस अधिकारियों को अभी और आरोपितों की तलाश है। अफसरों का कहना है, कि केस में अभी आठ या नौ गिरफ्तारी होनी है। इन सभी गिरफ्तारियों के बाद मास्टर माइंड और बचा हुआ ठगी का पैसा ठिकाने लगाने वाले आरोपित के बारे में पता चल पाएगा।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close