रायपुर। रायपुर नगर निगम को कोरोना संक्रमण काल में राजस्व वसूली का रिकार्ड दर्ज किया है। निगम को इस वित्तीय वर्ष में 131 करोड़ रूपये के राजस्व वसूली का लक्ष्य मिला था। निगम ने इस बार कई सालों का रिकार्ड तोड़ते हुए 160 करोड़ रुपये के राजस्व की वसूली की है। वर्ष 2020 में निगम 139 करोड़ रुपये का राजस्व वसूल किया था। पिछले साल की तुलना में इस साल निगम 21 करोड़ से भी अधिक की राशि की राजस्व वसूली में रिकार्ड वृद्धि दर्ज की है। निगम के अधिकारी का कहना है कि कर्मचारियों और अधिकारियों की मेहतन का फल है, जो राजस्व की वसूली में वृद्धि दर्ज की गई है।

ज्ञात हो कि ज्ञात हो कि राजधानी में जीआएस सर्वे के मुताबिक, राजधानी में कुल 15 लाख आबादी है। इनमें से दो लाख 77 हजार घरों से संपत्ति कर वसूली करना था निगम को पिछले साल 131 करोड़ रुपये का राजस्व वसूली का टारगेट मिला था। जिसमें निगम 139 करोड़ रुपये ही राजस्व की वसूली कर सका। इस साल निगम को 131 करोड़ रुपये का लक्ष्य मिल गया था।

निगम से मिली जानकारी के अनुसार साल 2019 में निगम को 132 करोड़ नौ लाख 54 हजार रुपये का लक्ष्य मिला था जिसमें निगम ने 134 करोड़ 97 लाख 28 हजार रुपये, वर्ष 2020 में निगम को लक्ष्य 131 करोड़ 15 लाख 84 हजार रुपये का लक्ष्य मिला था निगम ने 139 करोड़ 38 लाख रुपये वसूली की थी। वर्ष 2021 में कोरोना संक्रमण काल के दौराननिम को 131 करोड़ 82 लाख रुपये का लक्ष्य मिला था। निगम ने इस बार 160 करोड़ एक लाख रुपये के राजस्व की वसूली की है। निगम कुल 121.39 प्रतिशत अधिक वसूली की है।

कर्मचारियों के कमीं के वावजूद रिकार्ड वसूली

निगम के अधिकारी ने बताया कि राजस्व वसूली के लिए कुल 241 पदों की स्वीकृति मिली है, लेकिन वर्तमान में सिर्फ 117 कर्मचारी हैं। 124 पद रिक्त है। कर्मचारियों की कमी वसूली में अड़चन पैदा कर रही थी। लेकिन उसके बाद निगम के कर्मचारी कम संख्या में भी रिकार्ड वसूली दर्ज की है।

घरों में पहुंच रहे अधिकारी-कर्मचारी

बकायेदारों की लिस्ट तैयार करके निगम के राजस्व अधिकारी-कर्मचारी घर- घर दस्तक दे रहे थे। निगम के राजस्व के कर्मचारी बकायेदारों के घर जाकर संबंधित से मुलाकात करके उनकी बकाया राशि आदि की जानकारी दे रहे थे। दूसरी ओर, बकायेदार से संपत्ति कर, जल कर समेत अन्य टैक्स को जमा करने के लिए एक सप्ताह का समय भी दिया जा रहा था। निगम के कर्मचारियों द्वारा समय दिए जाने के बाद लोग राजस्व पटाना शुरू कर दिया।

पुराने बकायादारों और कॉलोनियों के बनाया था लक्ष्य

राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारी का कहना है कि इस साल राजस्व वसूली के लिए सबसे पहले नई कालोनियों में सौ प्रतिशत वसूली का लक्ष्य बनाया गया था। नई कालोनियों से सौ प्रतिशत वसूली एवं पूराने बकायेदारों ने भी इस साल राजस्व पटाया है।

इसके साथ ही कई मकान मालिक अन्य शहरों बस गए हैं। जब राजस्व वसूली के लिए निगम की टीम कालोनी में गई तो बकायेदारों ने आसानी से निगम का राजस्व का भुगतान किया उसके बाद जिन लोगों के मकान में ताला लगा है उनको भी पता चला और वह भी आकर राजस्व पटा दिए, जिससे इस साल राजस्व की वसूली अधिक हुई है।

वर्जन

निगम पिछले साल कई सालों का रिकार्ड तोड़ते हुए इस साल 160 करोड़ के राजस्व की वसूली की है। निगम ने इस बार नई कालोनियों और पूराने बकायेदारों से अधिक वसूली की है।

- पुलक भट्टाचार्य, अपर आयुक्त रायपुर नगर निगम

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local