श्रीशंकर शुक्ला, रायपुर। Rain Water Harvesting: बिरगांव नगर निगम बारिश की एक-एक बूंद सहेजने की तैयारी कर रहा है। बिरगांव नगर निगम अब तालाब के किनारे बने मकानों की छत से बारिश के दौरान बहने वाले पानी को सीधे तालाब से जोड़ने की तैयारी कर रहा है, जिससे बारिश का पानी छत से सीधे तालाब में पहुंचेगा। बारिश का पानी तालाब में आने से बिरगांव में जहां पानी का स्तर ऊपर आएगा।

इसके साथ ही गर्मी में बिरगांव के रहवासियों को पानी की किल्लत से दो चार नहीं होना पड़ेगा। बिरगांव नगर निगम ने इसके लिए कवायद शुरू कर दी है। निगम के अधिकारी का कहना है जल संरक्षण को लेकर निगम एक नई पहल की शुरूआत करने जा रहा है। ज्ञात हो कि बिरगांव नगर निगम में गर्मी शुरू होते ही पानी की किल्लत शुरू हो जाती है।

गर्मी जल स्तर नीचे चला जाता है, जिससे हैंडपंप और बोर सूख जाते हैं। वहीं, दूसरी तरफ बरसात में लाखों लीटर पानी नालों में बहकर बर्बाद हो जाता है। बरसात के पानी को संचय करने के लिए निगम ने तालाबों के आस-पास के घरों की छतों का पानी पाइप लाइन से जोड़कर सीधे तालाब तक पहुंचाया जाएगा। जानकारों की मानें तो शहरी क्षेत्र में 80 फीसद व ग्रामीण क्षेत्र में 50 फीसद बरसात का पानी बर्बाद हो जाता है।

बिरगांव में कुल 38 तालाब

बिरगांव नगर निगम के अंतर्गत वर्मतान में कुल 38 तालाब हैं। वर्तमान में तालाबों तक बारिश का पानी नहीं पहुंच पा रहा है। पानी ना आने से तालाब जहां तालाब का पानी शुद्ध नहीं हो पाता तो वहीं दूसरी तरफ गर्मी में ज्यादातर तालाब सूखने के कगार पर पहुंंच जाते हैं, जिससे बिरगांव का जल स्तर भी गिर जाता है। तालाब में बारिश का पानी आने से जहां तालाब का पानी शुद्ध होगा तो वहीं जल स्तर पर भी प्रभाव पड़ेगा।

निगम प्रथम चरण में 12 तालाब के करीब तीन सौ मकानों से इस व्यवस्था को शुरू करने जा रहा है। उसके बाद निगम धीरे-धीरे यह व्यवस्था सभी तालाबों में लागू करेगा।

तालाब में नहीं जाएगा गंदा पानी

बिरगांव नगर निगम के अंतर्गत आने वाले तालाबों में निगम प्रशासन कपड़ा धोने और महिला और पुरुष के नहाने के लिए तथा कपड़ा धोने की अलग से व्यवस्था करने की तैयारी कर रहा है। वर्तमान में कपड़ा धोने से साबुन का गंदा पानी सीधे तालाब में जाता है। गंदा पानी तालाब में ना जाए इसलिए निगम ड्रेन के माध्यम से गंदे पानी को सीधे बाहर करने की योजना बना रहा है।

होगा जल संचय

बरसात में मकान का पानी सीधे तालाब में आएगा। इसको लेकर योजना बनाई जा रही है, जल्द ही इसे लागू किया जाएगा। निगम प्रथम चरण में 12 तालाब को जोड़ने की तैयारी कर रहा है। इससे बारिश में बर्बाद होने वाले जल का संचय हो सकेगा।

- श्रीकांत वर्मा, आयुक्त बिरगांव नगर निगम

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags