रायपुर (ब्यूरो)। भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को गिरफ्तार करने की मांग की है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता भूपेन्द्र सवन्नाी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के राजनीतिक इतिहास में कांग्रेस के सर्वाधिक अशिष्ट, अमर्यादित और अलोकतांत्रिक अध्यक्ष भूपेश बघेल को विधानसभा अध्यक्ष के विरूद्ध गरिमाविहीन टिप्पणी करने तथा सार्वजनिक रूप से पुतला दहन कार्यक्रम का नेतृत्व करने के अपराध में अविलंब गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

ी सवन्नाी ने कहा कि ी बघेल सदन के वरिष्ठ सदस्य हैं। सदन की गरिमा को अक्षुण्ण रखने का दायित्व इन पर भी है, लेकिन इसके उलट उन्होंने सदन की गरिमा को ठेस ही पहुंचाई है और विधायी परंपरा को गंभीर छति पहुंचाने का अक्षम्य कृत्य किया है। इस कृत्य के लिए उन पर निश्चित ही कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक पाण्डेय ने कहा कि जिस पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के खिलाफ बगावत चल रही हो, जिस पार्टी का प्रदेश नेतृत्व अपनों के ही अविश्वास से अपने अस्तित्व की रक्षा के लिए जूझ रहा हो, वह पार्टी सदन में आसंदी के प्रति अविश्वास जताकर खुद को हास्यास्पद स्थिति में ला रही है। कांग्रेस लोकतांत्रिक और संवैधानिक मर्यादा का सम्मान करे और विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ बेतुके आरोप लगाने के बजाय लोकहित के मुद्दों पर रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाये तो उसके लिए बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि विधानसभाध्यक्ष ी अग्रवाल ने कांग्रेसियों की तरह जमीन का कारोबार नहीं किया, बल्कि महादेव घाट तट पर मंदिर का निर्माण समाज हित में कराकर धमार्थ कार्य किया है। ी पांडे ने कहा कि ी बघेल में हिम्मत है तो वे राबर्ट वॉड्रा के जमीन घोटाले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी के प्रति अविश्वास व्यक्त करके बताए।

भाजपा लोकतांत्रिक अधिकारों का सम्मान करना सीखे- भूपेश

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि विद्युत विभाग से फर्जी अनुबंध, लोक आयोग की जांच के आदेश और जिलाधीश द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के फैसलों के विपरीत दिए गए आदेश को लेकर कांग्रेस विधायक दल द्वारा विधानसभा अध्यक्ष खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। कांग्रेस विधायक दल द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के संकल्प के शब्दों को ही सदन में कहा गया है। उन्होंने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव लाना और उस अविश्वास प्रस्ताव के शब्दों को सदन में कहा जाना हर सदस्य का लोकतांत्रिक अधिकार है। ी बघेल ने कहा कि भाजपा को लोकतांत्रिक अधिकारों और परंपराओं का सम्मान करना सीखना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो प्रस्ताव लिखित में दिया गया है, वही बातें उन्होंने सदन में कही है। और विधायी प्रक्रिया के तहत विधानसभा में संकल्प प्रस्तुत करने के लिए दिए गए प्रस्ताव के सदन में उल्लेख को लेकर भाजपा द्वारा खड़ा किया जा रहा विवाद अलोकतांत्रिक है। उन्होंने सरकार पर जनहित से जुड़े ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा करने से भागने का आरोप लगाया है। ी बघेल ने कहा कि राशन कार्ड सत्यापन और हजारों गरीबों को राशन कार्ड के निरस्तीकरण के कारण भाजपा निरूतर हो गई है। भाजपा नहीं चाहती है कि राशन कार्ड पर बहस हो और गरीबों की बात उठे, भाजपा नहीं चाहती है कि छत्तीसगढ़ की विधानसभा में जनहित से जुड़े मुद्दे बिजली की दरों में वृद्धि, किसानों को 2400 रुपए समर्थन मूल्य सहित बोनस, पीलिया जैसे संक्रामक बीमारी, बढ़ते भ्रष्टाचार जैसे विषयों पर चर्चा हो।