रायपुर (निप्र)। बकाया किराया भुगतान किए बिना ही सामान समेट रहे सोनी टीवी के कर्मचारियों को महापौर डॉ. किरणमयी नायक के निर्देश पर निगम के अफसरों ने पर सोमवार की दोपहर इनडोर स्टेडियम से बाहर कर वहां ताला जड़ दिया। महापौर के इस सख्त रुख से सकते में आईटीवी कंपनी ने शाम तक बकाया 7 लाख 6 हजार जमा कर दिए। अभी यह राशि जमा की ही गई थी कि निगम के अफसरों ने शूटिंग के दौरान स्टेडियम में हुई तोड़फोड़ और नुकसान की क्षतिपूर्ति के लिए 12 लाख रुपए जमा करने की नोटिस थमा दी। निगम ने टीवी कंपनी को चेतावनी दी है कि जब तक क्षतिपूर्ति की यह राशि जमा नहीं की जाएगी, तब तक न तो स्टेडियम का ताला खुलेगा और न ही अंदर रखा शूटिंग का कोई सामान बाहर जाएगा। उल्लेखनीय है कि महापौर लगातार ताला जड़ने की चेतावनी दे रही थीं। महापौर के इस रुख के विपरीत राज्य की सत्तारूढ़ और निगम में विपक्ष में बैठी भाजपा, टीवी कंपनी पर नरमी के पक्ष में है। निगम में नेता प्रतिपक्ष सुभाष तिवारी ने सामान ले जाने देने की वकालत की है।

राजधानी के बूढ़तालाब स्थित स्व.बलवीर सिंह जुनेजा इनडोर स्टेडियम में रविवार को सोनी टीवी के शो 'कौन बनेगा महाकरोड़पति' की शूटिंग हुई। इसमें सुपर स्टार अमिताभ बच्चन भी शामिल हुए। नगर निगम ने सोनी टीवी को स्टेडियम 18 लाख 70 हजार रुपए में किराए पर दिया था। टीवी कंपनी ने इसमें से 11 लाख 70 हजार रुपए का भुगतान कर दिया था, बकाया राशि शूटिंग पूरी होने के बाद दी जानी थी। रविवार को शूटिंग खत्म होने के साथ ही टीवी कंपनी के अफसर बकाया दिए बिना ही मुम्बई लौट गए और सोमवार को तकनीकी कर्मचारी स्टेडियम में लगे सेट और उपकरण खोलने लगे। इसकी जानकारी मिलते ही महापौर डॉ. किरणमयी नायक के निर्देश पर जोन-7 कमिश्नर प्रीतम मिा स्टेडियम पहुंचे और सामान खोल रहे कर्मियों को बाहर कर वहां ताला जड़ दिया और किराया का भुगतान करने के बाद सामान ले जाने का निर्देश दिया। निगम की इस कार्रवाई से हड़कंप मच गया। बताया जाता है कि आनन- फानन में इसकी जानकारी मुम्बई में बैठे टीवी कंपनी के अफसरों को दी गई और वहां से पैसे मंगाए गए। इस बीच जोन कमिश्नर ने अपनी टीम के साथ स्टेडियम को हुए नुकसान का जायजा लेना शुरू किया। स्टेडियम की बर्बादी देखकर निगम के अफसरों के होश उड़ गए। अफसरों के अनुसार करोड़ों रुपए का वुडन फ्लोर बूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। स्टेडियम अब खेलने लायक नहीं रह गया है। केबीसी का सेट तैयार करने आए लोगों ने स्टेडियम का सेट तोड़ दिया है। इसके अलावा बाथरूम का गेट, वॉशबेसिन, कांच तक तोड़ दिया है। स्टेडियम परिसर में लगाई गई टाइल्स को भी बहुत क्षति पहुंचाई गई है। इस क्षति की भरपाई के लिए टीवी कंपनी को 12 लाख रुपए जमा करने की नोटिस दी गई है। अफसरों ने बताया कि किराए की शर्तों में इस बात का स्पष्ट उल्लेख है कि क्षतिपूर्ति का भुगतान टीवी कंपनी को करना है। निगम के अफसरों ने बताया कि किराया की रकम जमा होने के बावजूद स्टेडियम का ताला नहीं खोला गया है। क्षतिपूर्ति के 12 लाख रुपए जमा करने के बाद ही स्टेडियम का ताला खोला जाएगा और सामान ले जाने की अनुमति दी जाएगी।

क्षतिपूर्ति दिए बिना नहीं खुलेगा ताला

केबीसी के आयोजकों ने बकाया राशि 7 लाख 6 हजार रुपए जमा कर दी है, लेकिन इनडोर स्टेडियम को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाया है। वुडन फ्लोरिंग की पॉलिस उखड़ गई है, इसलिए 12 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है। जब तक जुर्माना नहीं देंगे, तब तक सामान नहीं ले जाने दिया जाएगा।- अवनीश शरण, कमिश्नर नगर निगम

आयोजकों ने स्टेडियम को काफी नुकसान पहुंचाया है। नियमानुसार स्टेडियम को हुई क्षति की पूर्ति टीवी कंपनी को ही करना है। ऐसे में जब तक क्षतिपूर्ति की राशि जमा नहीं कर दी जाती है, न तो ताला खोला जाएगा और न ही सामान ले जाने देंगे।

-डॉ. किरणमयी नायक, महापौर

केबीसी का आयोजन रायपुर के सम्मान से जुड़ा मामला है, इसलिए महापौर को थोड़ी नम्रता से काम करना चाहिए। नोटिस जारी कर दी गई है, टीवी कंपनी पैसा जमा कर देगी, उसे सामान ले जाने देना चाहिए।

-सुभाष तिवारी, नेता प्रतिपक्ष

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local