रायपुर। अब इंतजार की घड़ी खत्म हुई, मानसून ने छत्तीसगढ़ में दस्तक दे दी है। दक्षिण बस्तर से इसकी जोरदार आमद हुई है। शनिवार को बस्तर के पूरे इलाके में मानसून का आगाज हुआ और यह तेजी के साथ मध्य छत्तीसगढ़ की ओर बढ़ रहा है। दो चार दिनों में राजधानी तक इसके पहुंचने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है। मानसून से पूर्व होने वाली बारिश राज्य के कई जिलों में जारी है और राजधानी में मौसम करवट ले रहा।

प्रदेश में एक दिन पहले ही प्री मानसून की गतिविधि शुरू हुई थी और दूसरे ही दिन मानसून बस्तर के रास्ते आ पहुंचा। बस्तर संभाग के कई हिस्सों में हल्की से मध्यम वर्षा हुई। आसमान सुबह से काले बादलों से घिरा रहा और दिन में मानसून की पहली फुहार पड़ी। मानसून इस बार महाराष्ट्र होकर बस्तर में प्रवेश किया है। मौसम के जानकारों का कहना है कि मानसून की रफ्तार अभी धीमी है और इस लिहाज से रायपुर तक पहुंचने में दो से चार दिन का समय लग सकता है। पिछले साल 19 जून को मानसून आया था और एक ही दिन में पूरे प्रदेश में सक्रिय हो गया था। लेकिन इस साल मानसून की रफ्तार धीमी है। अभी तक पूरे प्रदेश में उमस और गर्मी से लोग बेहाल हैं। मानसून से लोगों को राहत मिली है और किसानों के चेहरे की रौनक लौट आई है। सर्वाधिक वर्षा 7 सेमी गीदम में हुई है। इसके अलावा दंतेवाड़ा में 4 सेमी, चारामा में 3, गुंडरदेही डौंडी लोहारा जगदलपुर में 2 और छिंदगढ़, अंतागढ़, बैरमगढ़ में एक-एक सेमी रिकॉर्ड की गई। लालपुर केन्द्र के मौसम विज्ञानी चंद्रकांत मोहदीवाले ने बताया कि दक्षिण पश्चिम मानसून महाराष्ट्र की सीमा से बस्तर में प्रवेश किया है और 3-4 दिनों में रायपुर तक पहुंचने की संभावना है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close