रायपुर। नईदुनिया, राज्य ब्यूरो

छत्तीसगढ़ के कांकेर में पत्रकारों के साथ हुई मारपीट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सख्त तेवर दिखाए हैं। राजीव भवन में आयोजित पत्रकारवार्ता में मुख्यमंत्री ने दो टूक कहा कि अपराधी कोई भी हो, चाहे किसी दल से जुड़ा हो, उसके खिलाफ कर्रवाई हुई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर और धाराएं जोड़ी जाएंगी। उन्होंने दावा किया कि इंटक (इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस) का कांग्रेस से सीधा संबंध नहीं है। साथ ही कहा कि किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा। बघेल ने हमले की कड़ी निंदा करते हुए इसे गलत ठहराया है। उन्होंने कहा कि पीड़ित ने पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है, उसी आधार पर कार्रवाई हुई और आरोपी भी पकड़े गए हैं।

कांकेर में पत्रकार कमल शुक्ला के साथ कांग्रेस से जुड़े नेताओं द्वारा मारपीट का वीडियो वायरल होने के बाद चौतरफा विरोध हो रहा है। वह अवैध रेत खनन के खिलाफ अभियान चला रहे थे। इधर मुख्यमंत्री बघेल ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि पिछली रमन सिंह सरकार के कार्यकाल में पत्रकारों के हितों की उपेक्षा हुई। पत्रकार की हत्या के मामले में ठीक से जांच तक नहीं हुई। आज पत्रकार ताल ठोंककर कह रहे हैं कि भूपेश हम आ रहे हैं। मैं इसका स्वागत करता हूं। यही प्रजातंत्र है। पिछली सरकार और इस सरकार में अंतर स्पष्ट दिखाई दे रहा है।

जल्द बन जाएगा पत्रकार सुरक्षा कानून

पत्रकार सुरक्षा कानून पर सीएम भूपेश ने कहा कि यह कानून पत्रकार ही बना रहे हैं। सरकार बनने के बाद लोकसभा चुनाव हुआ, उसमें तीन महीने चला गया। उसके बाद नगरीय निकाय चुनाव, फिर पंचायती राज चुनाव हुए। जो सरपंच जीतकर आए उसका सम्मान भी नहीं कर पाए, कोरोना के कारण लाकडाउन हो गया। इस बीच जितना संभव हो पाया, कर रहे हैं, हम पीछे नहीं हट रहे। कानून अंतिम स्तर में पहुंच गया है। जल्द ही चर्चा पूरी हो जाएगी। यह अपनी तरह का देश में पहला कानून होगा, तो देख समझकर बनाया जाएगा।

राज्यपाल ने हमले की घटना का लिया संज्ञान

राज्यपाल अनुसुईया उइके ने पत्रकारों पर हमले की घटना पर संज्ञान लिया है। राज्यपाल ने कमल शुक्ला से फोन पर बातचीत की और कहा कि मुझे आप लोगों के साथ हुई घटना की जानकारी मिली। आप अपना ध्यान रखें, आप जल्दी स्वस्थ हों। राज्यपाल ने पुलिस महानिदेशक और पुलिस अधीक्षक को निष्पक्ष जांच कर न्यायोचित कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

पत्रकारों पर जानलेवा हमला निंदनीयः कौशिक

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने हमले को अमानवीय बताते हुए निंदा की है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की प्रक्रिया को मजबूत करने में जुटे पत्रकारों के साथ इस तरह की घटना की जितनी निंदा की जाए वह कम है। सरकार केवल दिखावे के लिए ही पत्रकारों की सुरक्षा की बात कर रही है। जब पत्रकार ही असुरक्षित हों तो, पत्रकार सुरक्षा कानून किस काम का है। घटना में जो भी दोषी है, उन पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020