मृगेंद्र पाण्डेय, रायपुर। Survey Report: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट को देखते हुए कहा था कि जब तक वैक्सीन नहीं, तब तक मास्क ही वैक्सीन है। राज्य सरकार भी मास्क के इस्तेमाल के लिए लोगों को जागरूक कर रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रोज एक ट्वीट करके 'मास्क ही बचाव है' कैंपेन को आगे बढ़ा रहे हैं। लेकिन छत्तीसगढ़ के ग्रामीण क्षेत्रों में लोग मास्क लगाने में पिछड़ रहे हैं। राज्य सरकार ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में मास्क के उपयोग, हाथ की धुलाई और शारीरिक दूरी को लेकर एक सर्वे कराया है।

इस सर्वे में चौकाने वाला तथ्य यह सामने आया कि 50 फीसद से ज्यादा लोग मास्क का इस्तेमाल नहीं करते हैं। करीब ढाई फीसद लोग सिर्फ इसलिए मास्क का इस्तेमाल नहीं करते हैं, क्योंकि उनको गुटखा थूकने में दिक्कत होती है। वहीं, आधे फीसद से कम लोगों को बीड़ी और सिगरेट पीने में दिक्कत होती है। नशा करने के कारण मास्क नहीं लगाने वालों के आंकड़े भले ही तीन फीसद के आसपास हो, लेकिन यह खतरे की घंटी बजा रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें तो नशा करने वाले कोरोना की जद में ज्यादा आते हैं। कोरोना नियंत्रण के राज्य नोडल अधिकारी डॉ सुभाष पांडेय की मानें तो नशा करने वालों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। इससे संक्रमण फैलने की आशंका ज्यादा होती है। समर्थन सेंटर फार डेवलपमेंट सपोर्ट के सर्वे में यह तथ्य सामने आया कि गुटखा थूकने में दिक्कत के कारण ढाई फीसद और सिगरेट पीने के कारण 0.13 फीसद पुरुष मास्क का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। रायपुर में सबसे ज्यादा 5.4 फीसद लोगों ने माना कि गुटखा थूकने में दिक्कत होती है। चश्मा पहनने में दिक्कत के कारण एक फीसद, नाक में खुजली होने के कारण साढ़े तीन फीसद और बदबू आने के कारण एक फीसद लोग मास्क का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं।

33 फीसद को मास्क लगाने पर हो रही सांस लेने में दिक्कत

सर्वे में 33 फीसद लोगों ने कहा कि मास्क लगाने से उनको सांस लेने में दिक्कत आ रही है। वहीं, साढ़े 13 फीसद लोगों को बात करने में दिक्कत, 18 फीसद लक्षण नहीं होने के कारण मास्क नहीं लगा रहे हैं। डेढ़ फीसद लोग मानते हैं कि मास्क से कोरोना का बचाव असंभव है, इसलिए इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है। घर में बना मास्क 34 फीसद और गमछे का इस्तेमाल 39 फीसद लोग कर रहे हैं। पैसे की कमी के कारण करीब 13 फीसद लोग मास्क की खरीदी नहीं कर पा रहे हैं।

फैक्ट फाइल

11 जिले के छह हजार 292 लोगों के बीच हुआ यह सर्वे

37 फीसद महिलाएं और 63 फीसद पुरुष शामिल हुए

आयुवर्ग-सर्वे में शामिल

18-30- 3001

31-40 - 2024

41-50 - 806

51-60 - 301

60 से ज्यादा-160

कुल-6292

इन जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में हुआ सर्वे

रायपुर, बालोद, बलरामपुर, बिलासपुर, दुर्ग, जशपुर, कांकेर, कोरबा, राजनांदगांव, सरगुजा, सुकमा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020