रायपुर। नईदुनिया, राज्य ब्यूरो

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने पलटवार करते हुए कहा कि सत्ता हाथ से जाने के बाद रमन मानसिक संतुलन खो बैठे हैं। तीन बार मुख्यमंत्री रहने के बाद भी वह राजनीतिक विरोध की भाषा की मर्यादा भूल बैठे है। मुख्यमंत्री के लिए रावण की संज्ञा देकर छत्तीसगढ़ की पौने तीन करोड़ जनसंख्या का अपमान किया है। रावण राक्षसों का शासक था। भूपेश बघेल को अपना शासक छत्तीसगढ़ की जनता ने तीन चौथाई बहुमत के साथ चुना है। रमन सिंह ने राज्य के मतदाताओं, नागरिकों, गरीबों, किसानों सभी का अपमान किया है। रमन सिंह छत्तीसगढ़ की जनता से माफी मांगें। रमन सिंह को राम राज और रावण राज का बुनियादी फर्क ही नहीं मालूम है। रावण राज में महिला उत्पीड़न और भ्रष्टाचार का बोलबाला था, जो छत्तीसगढ़ में 15 सालों तक रमन राज में दिखा था। शुक्ला ने कहा कि जिसके राज में सरकारी कन्या आश्रमों में छह से 14 साल की मासूम बच्चियों से दुष्कर्म हुआ, महिलाओं से हर दिन तीन दुष्कर्म हुए, चंद पैसों के लिए गर्भाशय निकाल लिए गए, नसबंदी में 17 माताओं की जान चली गई, छत्तीसगढ़ की 27 हजार से अधिक बेटियां लापता हो गईं, ऐसा राज चला चुके रमन के लिए रावण आदर्श किरदार ही होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस