रायपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पुलिस को बुधवार देर रात बड़ी सफलता मिली है। गरियाबंद जिले के मैनपुर के जंगल से तेंदुए के दो शावकों को 50 हजार रुपये में खरीदकर उसे बेचने के फिराक में रायपुर आ रहे दो तस्करों को अभनपुर क्षेत्र के घोंट गांव में घेराबंदी कर दबोचा गया है। तस्कर तेंदुए के बच्चों को पिंजरे में बंद करके झोले में डालकर दोपहिया वाहन से लेकर आ रहे थे। पुलिस ने बरामद तेंदुए के दोनों बच्चों को वन विभाग के सुपुर्द कर दिया। उन्हें जंगल सफारी ले जाया गया।

एसएसपी आरिफ एच शेख ने रात 11 बजे पुलिस कंट्रोल रूम में मीडिया के सामने गिरफ्तार तस्करों व बरामद तेंदुए के दो बच्चों को पेश करते हुए बताया कि मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई थी कि कुछ लोग गरियाबंद-मैनपुर की ओर से तेंदुए के दो नवजात बच्चों को बेचने के लिए रायपुर लेकर आ रहे हैं।

चूंकि यह सूचना वाइल्ड लाइफ जानवरों की तस्करी से संबंधित थी। लिहाजा मामले को गंभीरता पूर्वक लेकर एक घंटे के भीतर जिले के सभी थाना क्षेत्रों में इसकी जानकारी दे दी गई। इसके आधार पर वाहनों की चेकिंग शुरू की गई और विशेष टीम का गठन कर जिले के बार्डर क्षेत्रों में रवाना किया गया।

खमतराई थाना प्रभारी रामाकांत साहू की टीम ने अभनपुर के घोंट गांव में एक्टीवा सवार दोनों तस्करों को आते देखकर रोका। सामने रखे दो झोले की तलाशी ली तो उसमें पिंजरे में बंद तेंदुए के दो नवजात मिले। पुलिस ने मौके पर ही चूना भट्ठी निवासी तस्कर मोहम्मद साबिर अली पिता अकबर अली और राकेश निषाद पिता तोपी निषाद को गिरफ्तार कर लिया। तेंदुए के बच्चों को सुरक्षित लाकर वन विभाग सूचना दी गई।

कार छोड़कर दोपहिया में लाए

प्रारंभिक पूछताछ में गिरफ्तार तस्करों ने बताया कि वे मैनपुर के जंगल में एक ग्रामीण से 50 हजार रुपये में तेंदुए के दोनों बच्चों को खरीदकर उसे बेचने कार से रायपुर ला रहे थे। वाहन चेकिंग में फंसने के डर से उन्होंने बीच रास्ते में कार छोड़कर एक्टिवा क्रमांक सीजी 04 एमएम 1645 के सामने तेंदुए के बच्चों को झोले व पिंजरे में रखकर ला रहे थे। अभी किसी से सौदेबाजी नहीं हुई थी। वन विभाग के अफसरों का कहना है कि दोनो एक से डेढ़ महीने के हैं।

सीसीएफ के जरिए सूचना मिली थी तेंदुए के बच्चों की तस्करी की जा रही है। वन विभाग की टीम अलर्ट थी। इसी बीच तस्करों के पकड़े जाने की खबर मिली। दोनों नवजात को जंगल सफारी ले जाया गया है। उत्तम गुप्ता, रायपुर डीएफओ

VIDEO : नारायणपुर जिले में कथित नक्सली की पत्नी दो बच्चियों से साथ फांसी पर झूली

कर्ज और गरीबी की वजह से जा रहा था खुदकुशी करने, यहां मिला 'नवजीवन'