रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वाहनों की फर्जी बुकिंग से लाखों रुपये की धोखाधड़ी करने वाले वी ट्रांस इंडिया लिमिटेड कंपनी के शाखा प्रभारी हेमचंद श्रीवास को खमतराई थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित ने दसंबर 2021 से जुलाई 2022 के मध्य 32 वाहनों की फर्जी बुकिंग बताकर कंपनी (नागपुर) से कुल 12 लाख 73 हजार 400 रुपये ब्रोकर व वाहन स्वामी के नाम से कंपनी से धोखाधड़ी कर विभिन्‍ना खातों में डलवा लिया था।

जानकारी के मुताबिक पीड़ित संजय कुमार दुबे ने खमतराई थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया था कि वी ट्रांस इंडिया लिमिटेड कंपनी का आफिस बंजारी मंदिर के पीछे रावाभाठा में है। हेमचंद श्रीवास कंपनी में उप क्षेत्रीय प्रबंधक के पद पर कार्यरत है। कंपनी का मुख्य काम ट्रांसपोर्टिंग का है, जो देश के विभिन्‍न राज्यों में माल भेजने व लाने का काम करती है।

कंपनी ने 22 अक्टूबर 2018 को हेमचंद श्रीवास को कार्यालय के शाखा प्रभारी के पद पर नियुक्त किया गया था। शाखा प्रभारी का कार्य ट्रांसपोर्टिंग के लिए उपलब्ध वाहनों पर आर्डर अनुसार माल को गंतव्य स्थान तक भेजना और आए हुए माल को गंतव्य स्थान तक पहुंचाने और उसकी जानकारी क्षेत्रीय कार्यलय नागपुर को भेजने का था। साथ ही साथ ही वाहन क्रमांक व वाहन स्वामी का नाम व माल कहां भेजना है कि जानकारी बिल्टी तैयार कर नागपुर क्षेत्रीय कार्यालय को रकम भुगतान के लिए मेल किया जाता था।

इसमें जिस खाता में रकम कंपनी द्वारा भेजना है, उसका उल्लेख भी रहता था। कंपनी के द्वारा शाखा प्रभारी के भेजे गए जानकारी अनुसार निर्धारित रकम जो वाहन ट्रांसर्पाेटिंग का चार्ज रहता था का 80 प्रतिशत रकम बतौर अग्रिम दिया जाता था।

शेष रकम को माल गतंव्य तक पहुंचने के बाद भुगतान संबंधित ब्रोकर या वाहन स्वामी के खाते मे भेजा जाता था। वहीं आरोपित हेमचंद्र श्रीवास ने 32 वाहनों की फर्जी बुकिंग बताकर लाखों की ठगी की है। पुलिस ने शिकायत पर कार्रवाई करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close