रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

रायपुर रेल मंडल ने माल लदान के क्षेत्र में उपलब्धि हासिल की है। कोरोना संकटकाल में अप्रैल-मई की कठिन परिस्थितियों में कम लोडिंग के बाद से अभिनव प्रयास कर नए ग्राहकों को रेल की ओर आकर्षित करने में सफलता हासिल की। सितंबर महीने में पिछले वर्ष के मुकाबले 25 फीसद से अधिक एवं अक्टूबर माह में अभी तक पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 35 फीसद से अधिक लदान हासिल करने में सफलता अर्जित की है। यह वृद्वि सीमेंट, क्लिंकर, डोलोमाइट, लौह अयस्क, तथा नए स्टील ग्राहकों को जोड़कर प्राप्त की गई। रेल मंडल के इस योगदान से दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन में विपरीत परिस्थितियों में पिछले वर्ष के मुकाबले अधिक लदान स्तर हासिल करने में सफल रहा है। पूरे भारतीय रेलवे में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे का लगान के क्षेत्र में सर्वोधा स्थान रहा है।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे को वर्तमान वित्तीय वर्ष 2020-21 में 172.83 मिलियन टन माल ढुलाई का लक्ष्य दिया गया है। कोरोना जैसी विषम परिस्थितियों के बावजूद लदान के प्रति अपनी प्रतिबद्घता कायम रखते हुए मंडल ने बेहतर कार्य किया। आपदा को अवसर में बदलते हुए न केवल रिकार्ड मैंटेनेंस कार्य किए बल्कि अधोसंरचना के लिए कार्य भी तीव्र गति से किया। इस वित्तीय वर्ष एक अप्रेल से 25 अक्टूबर तक 92.62 मिलियन टन माल लदान कर चुका है। यह विगत वित्तीय वर्ष 2019-20 के एक अप्रेल से 25 अक्टूबर तक लदान में 92.48 मिलियन टन लदान से कही ज्यादा है। समय एवं परिस्थिति के मद्देनजर यह आंकड़ा बेहद महत्वपूर्ण बताया जा रहा है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में अपने लोडिंग परफार्मेंस को संदर्भित तिथि तक पार करने वाला यह समस्त जोनो में प्रथम रेलवे बन गया है।औसत दृष्टि से देखे तो पिछले वर्ष में एक अप्रेल से 25 अक्टूबर तक लदान का औसत 6564 वैगन प्रति दिन रहा जबकि वर्तमान वित्तीय वर्ष में यह औसत 6596 वैगन प्रति दिन है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ने तीनों रेल मंडलो के अपने सभी कर्मचारियों एवं अधिकारियों को इसके लिए शुभकामनाएं दीं एवं बेहतर कार्य करने प्रोत्साहित किया।

डीआरएम ने केक काटकर मनाई खुशियां

(फोटो-केक काटते डीआरएम श्याम सुंदर गुप्ता)

डीआरएम श्याम सुंदर गुप्ता ने इस मौके पर अधिकारियों के साथ केक काटकर खुशी जाहिर की। उन्होंने वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक डॉ. प्रकाश चंद्र त्रिपाठी की प्रशंसा की साथ ही रेल राजस्व के क्षेत्र में और अग्रसर कारगर उपाय प्रतिपादित करने की सलाह दी। इस अवसर पर अपर मंडल रेल प्रबंधक (इंफ्रा) डा. दर्शनीता बी. अहलूवालिया एवं अपर मंडल रेल प्रबंधक (ओपी) लोकेश विश्नोई समेत मंडल के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस