रायपुर। धमतरी के बहुचर्चित लव जेहाद मामले में पीड़ित युवती अंजली जैन ने सखी सेंटर से रिहाई न किए जाने के बाद भूख हड़ताल का ऐलान किया है। अंजली ने सोमवार को कहा कि अदालत से उसके पक्ष में फैसला आया है। अदालत ने उसे इस बात की आजादी दी है कि वह अपने भविष्य को लेकर खुद निर्णय ले सकती है। इस आदेश के बाद उसे सखी सेंटर से रिहा किया जाना था, लेकिन उसे यहां कैद कर रखा गया है। अंजली ने कहा कि जब तक उसे सखी सेंटर से आजाद नहीं किया जाता, वह भूख हड़ताल करेगी।

बता दें कि करीब 18 माह पूर्व धमतरी की रहने वाली अंजली जैन ने आर्यन उर्फ इब्राहिम सिद्घकी से आर्य समाज मंदिर में शादी की थी। इस शादी के बाद लोगों ने इसे लव जिहाद की संज्ञा दी और अंजली के परिवार वालों ने बेटी को बरगला कर उसका अपहरण करने का आरोप अंजली के पति इब्राहिम और उसके परिजनों पर लगाया था। इस मामले में युवती ने शुरू से ही अपने पति के साथ रहने और अपनी इच्छा से शादी की बात स्वीकारी, लेकिन युवती के परिजन लगातार इस बात को लेकर अड़े हैं कि युवती को गुमराह किया गया।

युवती ने हाईकोर्ट में अपील कर पति के साथ रहने की इच्छा प्रकट की थी। इस घटना के बाद से युवती को सखी सेंटर में रखा गया है। पिछले दिनों हाईकोर्ट ने मामले में फैसला लेते हुए युवती को इस बात की आजादी दी थी कि वह खुद की इच्छा से अपने भविष्य के लिए सही निर्णय ले। अदालत के इस आदेश के बाद शनिवार को अंजली को सखी सेंटर से रिहा किया जाना था।

उसे लेने उसके पति भी वहां आए थे, लेकिन अंजली की रिहाई नहीं हो सकी। उसे सोमवार तक सखी सेंटर में रोके जाने की बात कही गई थी, लेकिन सोमवार को भी रिहाई नहीं होने की वजह से अंजली बेहद मायूस नजर आई। उसने इस दौरान ऐलान किया कि जब तक उसकी सखी सेंटर से रिहाई नहीं होगी, वह भूख हड़ताल करेगी।

अंजली जैन ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुझे जबर्दस्ती सखी सेंटर में कैद करके रखा गया है। ऐसी चर्चा है कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से हाईकोर्ट के आदेश पर स्टे मिल गया है। इस वजह से अंजली को सखी सेंटर से छोड़ा नहीं जा सका।

Posted By: Nai Dunia News Network