रायपुर। मनी लांड्रिंग और कोल घोटाला मामले में सोमवार को ईडी ने भिलाई के कारोबारी दीपेश टांक को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि दीपेश ने मनी लांड्रिंग केस में पहले से जेल में बंद राज्य प्रशासनिक सेवा की अधिकारी सौम्या चौरसिया के स्वजनों को करोड़ों की जमीन सौदाकर बेची है। दीपेश से पहले ही ईडी कई बार पूछताछ कर चुकी है। सोमवार को अधिकारिक तौर पर इसे गिरफ्तार कर विशेष न्यायाधीश अजय सिंह राजपूत की कोर्ट में पेश किया गया। ईडी ने पूछताछ के लिए सात दिन का रिमांड मांगा पर न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की करीब डेढ़ घंटे सुनवाई के बाद चार दिन की रिमांड मंजूर करते हुए आरोपित कारोबारी को सौंप दिया।

बता दें दीपेश टांक अब चार दिनों तक ईडी की कस्टडी में ही रहेगा और इससे विस्तृत पूछताछ की जाएगी। कोर्ट ने 27 जनवरी की सुबह 11 बजे तक दीपेश को कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए गए है। रिमांड के दौरान हर दूसरे दिन अधिवक्ता को कारोबारी से मिलने की अनुमति दी गई है। गौरतलब है कि कारोबारी दीपेश टांक ने नौ दिसंबर को कोर्ट में ईडी द्वारा प्रताड़ित करने की लिखित शिकायत पेश की थी। ईडी के अफसरों ने दावा किया है कि अवैध लेनदेन की काली कमाई का बड़ी रकम जमीन के बदले दीपेश टांक को दिया गया है।जमीन का सौदा कुछ नकद और कुछ बैंक से करने की चर्चा है।दुर्ग के धमधा रोड के पास 51 एकड़ जमीन के सौदेबाजी में दीपेश का नाम जुड़ा है। दावा किया जा रहा है कि जमीन इसी की थी,जिसकी डील मनी लांड्रिंग के आरोपितों के साथ की गई थी।

ईडी पर प्रताड़ित करने का आरोप

कारोबारी दीपेश टांक की पत्नी वर्षा टांक ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि हम किसान है। कृषि जमीन बेचना कोई गलत काम तो नहीं है। मजबूरी में जमीन बेचनी पड़ी थी। अब जमीन खरीदने वाला कहां से पैसा ला रहा है, इससे हमे क्या लेना-देना है। ईडी इस मामले में मेरे पति को फंसा रही है। कई बार पूछताछ के नाम पर दफ्तर बुलाकर ईडी के अधिकारियों ने पति को घंटों प्रताड़ित करते थे। आधी रात को छोड़ते थे। पति ने इसकी शिकायत कोर्ट में भी की है। दीपेश टांक की दुर्ग जिले के सेवती नगपुरा जैन मंदिर के पास फार्म हाउस है।वर्षा टांक ने बताया कि सोमवार की सुबह से ईडी के अधिकारी दीपेश से पूछताछ कर रहे थे। 12.50 बजे घर आकर कहा कि गिरफ्तार कर रहे है। आपको कोर्ट जाने का शौक है तो कोर्ट में पेश करेंगे। इसके बाद गिरफ्तारी की कार्रवाई पूरी कर कोर्ट में लाकर पेश किए।

Posted By: Vinita Sinha

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close