रायपुर,नईदुनिया, राज्य ब्यूरो। छत्तीसगढ़ की महासमुंद सीट से कांग्रेस विधायक विनोद चंद्राकर पर एयर इंडिया की एक महिला स्टाफ (ग्राउंड) ने दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है। चंद्राकर ने आरोप को गलत बताते हुए कहा कि एयरपोर्ट पर लगे सीसीटीवी के फुटेज की जांच कर ली जाए, सब कुछ साफ हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस तरह का गलत आरोप लगा कर मेरी छवि खराब करने की कोशिश की गई है। इसके लिए मैं एयर इंडिया की उस महिला स्टाफ के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करूंगा। घटना रायपुर के स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट की है। चंद्राकर ने अपने टि्वटर एकाउंट पर उसी रात (7 सितंबर) एयरपोर्ट के लाउंज की अपनी फोटो के साथ एयर टिकट भी पोस्ट की है।

विधायक चंद्राकर ने 'नईदुनिया" को बताया कि उनके पास शाम 6.30 बजे की रांची जाने का टिकट था। साथ में दो और सहयोगी भी थे। शाम 5.37 बजे हम लोग एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच की लाइन में थे। चूंकि मेरे पास हैंड लगेज था, इस वजह से मेरी दूसरी बार जांच होने लगी। तभी एयर इंडिया का एक स्टॉफ आया और हमारी जांच में सहयोग कराने लगा। तब तक मेरा एक साथी अंतिम गेट तक पहुंच चुका था, जहां एयर इंडिया की महिला स्टाफ खड़ी थी।

मेरे साथी ने उन्हें बताया भी कि बस दो से तीन मिनट में आ जाएंगे, इसके बावजूद उस महिला ने 6 बजकर 8 मिनट पर गेट बंद कर दी और हमें जाने नहीं दिया। अभी उड़ान में 25 मिनट का वक्त था, इस वजह से हमने उनसे आग्रह भी किया, लेकिन वो नहीं मानीं।

इस पर मैंने आपत्ति की और एयर इंडिया के सीएमडी से फोन पर बात करके इसकी शिकायत की। उनके वॉट्सएप पर लिखित शिकायत भी भेजा हूं। इसके बाद मैं दूसरे साधन से रांची चला गया। मुझे समाचार माध्यमों से पता चला है कि महिला स्टाफ ने मेरे ही खिलाफ शिकायत की है। उल्लेखनीय है कि इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एयर इंडिया ने जांच के निर्देश दिए हैं।

VIDEO : नारायणपुर जिले में कथित नक्सली की पत्नी दो बच्चियों से साथ फांसी पर झूली

कर्ज और गरीबी की वजह से जा रहा था खुदकुशी करने, यहां मिला 'नवजीवन'