रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बिजली विभाग के नाम पर उपभोक्ताओं को चूना लग रहा है। बिजली काटने वाले संदेश मोबाइल पर भेजकर अधिकारी से संपर्क करने के लिए कहा जा रहा है। इसमें लिंक के साथ मोबाइल नंबर भी दिए जा रहे हैं। यदि किसी ने लिंक को क्लिक किया तो मोबाइल हैक कर ठगी की जाती है।

यदि किसी ने यहां दिए नंबर पर फोन किया तो फोनधारक झांसे में लेकर ओटीपी मांगकर बैंक अकाउंट खाली कर देता है। ऐसी शिकायतों के बाद अब बिजली विभाग भी सतर्क हुआ है। आज छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्युशन कंपनी लिमिटेड के द्वारा सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज करवाई गई है। इसमें जिन दो नंबरों से एसएमएस किए जा रहे उनके खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की मांग की गई है।

इन नंबरों से रहें सावधान

जिन नंबरों से संदेश आ रहे हैं उनमें-9339294957 और 7477840327 नंबर प्रमुख हैं। इन्हीं दो नंबरों की शिकायत थाने में भी की गई है। विद्युत मंडल की ओर से कहा गया है कि ऐसे या अन्य किसी भी 10 नंबर से आने वाले संदेश को लेकर किसी भी तरह की जानकारी साझा न की जाए।

विभाग 10 अंकों के मोबाइल नंबर से नहीं भेजता

विद्युत विभाग अब हाइटेक हो रहा है। अधिकांश उपभोक्ता अब मोबाइल के माध्यम से बिल जमा कर रहे हैं। इसके साथ ही विद्युत विभाग में मोबाइल पर ही लोगों को बिजली बिल भेजे जा रहे हैं। ऐसे में साइबर अपराधियों ने आमजनों से ठगी करने का नया तरीका निकाला है।

इधर, विभाग ने अलर्ट किया है कि कंपनी कभी भी उपभोक्ताओं को 10 अंकों के मोबाइल नंबर से कोई मैसेज नहीं भेजती है और न ही 10 अंकों के मोबाइल नंबर पर किसी तरह के भुगतान को स्वीकार किया जाता है। विभाग कभी किसी लिंक को भेजकर भुगतान करने को नहीं कहता है। 'मोर बिजली" के अतिरिक्त अन्य कोई एप डाउनलोड करने के लिए नहीं कहा जाता है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close