रायपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। वाल्टेयर रूट पर डब्ल्यूआरएस कालोनी के समीप आरएसडी केबिन स्टेशन के पूर्व धनबाद से पूर्व तटीय रेलवे के सीमाद्री जा रही मालगाड़ी में अचानक धुआं उठने से हड़कंप मच गया। इसके बाद इसे जहां सुबह आठ बजे से ही इसके वैगन में धुआं निकलने की सूचना आरपीएफ सटेलमेंट को मिली।फिर आनन-फानन फायर ब्रिगेड की सहायता से आग पर काबू पाया गया।

जानकारी अनुसार कोयला लोडेड मालगाड़ी एसडीटीवी के ब्रेकवैन से छठवें नंबर के वैगन में कोयले से हल्का धुआं निकलने की सूचना पर कोयले में पानी का छिड़काव कर साढ़े बजे गंतव्य के लिए रवाना किया गया।

अधिकारियों के मुताबिक मालगाड़ी के वैगन में लोडिंग के समय कोयला गर्म हो गया था। वैसे उस दौरान पानी का छिड़काव किया गया था, लेकिन वहां से चलने के बाद वैगन में गर्म कोयला धीरे-धीरे सुलगने लगा। रायपुर रेलवे स्टेशन से वाल्टेयर रूट पर आगे ही थी।

उसी दौरान इसके वैगन से धुआं उठने की खबर 112 नंबर पर दी गई। इसी बीच नजदीकी स्टेशन पर जब मालगाड़ी में धुआं उठने की जानकारी मिली तो वहां इमरजेंसी सायरन बजने लगा। रेलवे अधिकारियों ने आपसी चर्चा के बाद इमरजेंसी कार को घटना स्थल के लिए रवाना किया।इस घटना के कारण रेल अधिकारियों में हड़कंप मच गया।

अधिकारी मिलने वाले निर्देशों पर अमल करने में व्यस्त नजर आए। अधिकारियों द्वारा मालगाड़ी में रखे कोयले के आग पकड़ने के बाद त्वरित कार्रवाई की गई। इसके बाद पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने आग बुझाई। इस दौरान सुरक्षा के एहतियात के तौर पर हाईटेंशन बिजली आपूर्ति को बंद कर दिया गया था। जिस कारण ट्रेक पर कुछ देर के लिए वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई। हालांकि मालगाड़ी में लदे कोयले की आग बुझाने में अधिक समय नहीं लगा।

बुझाने के बाद लूप लाइन पर खड़ी की

यार्ड की ओर जाने वाले ट्रैक पर लूप लाइन के जरिए मालगाड़ी खड़ी की गई, जहां सभी वैगन की जांच की गई। वहीं इसके आसपास के वैगन में फायर ब्रिगेड से पानी डाला गया।

गांधी विचार यात्रा का 10 अक्‍टूबर को रायपुर में होगा समापन

Caste Reservation : छत्तीसगढ़ में जातिगत आरक्षण पर हाईकोर्ट की तल्ख टिप्पणी