कृष्ण कुमार सिकंदर, रायपुर। छतीसगढ़ में 2001 से अब तक 164 हाथियों की संदिग्ध मौत हो चुकी है। इन 20 सालों में अकेले 47 की मौत करंट लगने से हुई है। हाथियों की ये मौतें सवालों के घेरे में है। अब तक आशंका जताई जा रही थी कि इसके पीछे तस्करों का हाथ हो सकता है। यह मामला पुष्टि की ओर बढ़ रहा है। गत दिनों मध्य प्रदेश के इंदौर एसटीएफ द्वारा सिंगरौली से पकड़ कर लाए गए तस्करों से पूछताछ में हुए पर्दाफाश इसी ओर इशारा कर रहे हैं। सिंगरौली से गत बुधवार को लाए गए तस्कर विजय गुर्जर से इंदौर एसटीएफ ने पूछताछ की तो चौकाने वाले तथ्यों का पर्दाफाश हुआ है। इंदौर एसटीएफ के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पूछताछ में तस्कर ने बताया कि हाथी दांत से बने आभूषण छतीसगढ़ से लाया है। इसकी तस्करी में तीन अन्य लोग भी लिप्त हैं। उसने यह भी बताया कि तस्करी के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेता था। इतना ही नहीं ग्राहकों से भी इंटरनेट कॉलिंग पर बातचीत होती है। तस्कर से पूछताछ में मिली एसटीएफ ने जानकारी मुख्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों को दे दी है। अब एसटीएफ मुख्यालय से टीम बनने के बाद छतीसगढ़ में जांच शुरू हो सकती है।

यह मामला सामने आने के बाद इस आशंका को बल मिला है कि हाथियों की मौत के पीछे शिकारी और तस्करों को गठजोड़ हो सकता है। करीब तीन माह पहले धमतरी के सिरकट्टा गांव में ऐसे ही एक मामले में एक हाथी की हत्या का पता पांच साल बाद चला था। साल 2015 में चैन सिंह मरकाम ने अपने खेत में बिजली के तार लगाकर उसमें करंट दौड़ा दिया था। इसकी चपेट में एक छोटा हाथी आ गया। चैन सिंह ने अपने बेटों रंजीत और संजीत के साथ मिलकर उसे कुह्लाड़ी से हाथी को दो टुकड़ों में काटा और दफना दिया। बाद में कब्र खोदकर हाथी के दांत निकालकर रख लिए। इन्हें बेचना के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा था कि दबोचा गया। इस वर्ष 9 जून से अब तक 6 हाथियों की मौत हुई है। इन मौतों में वन और विद्युत विभाग के साथ अराजकतत्वों की भी मिलीभगत सामने आई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस