रायपुर। Raipur News: बैरान बाजार स्थित पालिटेक्निक कालेज के पास लगे गुलमोहर के पेड़ों की पत्तियां रातों-रात गायब हो गई हैं। सुनकर आश्चर्य होगा, लेकिन यह सच है। दरअसल, इल्लियों ने सदाबहार रहने वाले पेड़ों की हरी-भरी पत्तियों को पूरी तरह से खत्म कर दिया है। अब तना और डंठल ही दिख रहे हैं। कृषि विज्ञानियों ने बताया कि इन इल्लियों को सेमी लूपर कहा जाता है और ये जिस पेड़ पर लग जाती हैं, उसकी पत्तियों को बर्बाद कर देती हैं।

रायपुर ही नहीं अभनपुर, दुर्ग, भिलाई, कोरबा और जांजागीर में भी इल्लियों की वजह से गुलमोहर के साथ ही अन्य पेड़ों जैसे यूकेलिप्टस, शीशम, बबूल आदि की पत्तियों पर भी इल्लियों का प्रकोप बढ़ने लगा है। अगर जल्द ही उपाय नहीं किए गए, तो वे सभी पेड़ पूरी तरह सूख जाएंगे। आमतौर पर इल्लियों का हमला बरसात के मौसम में होता है। मगर, इस बार बारिश लंबी खिंचने की वजह से कीट का प्रकोप बना हुआ है। इन्हें खत्म करने के लिए दवा का छिड़काव करना चाहिए।

कृषि विज्ञानियों के अनुसार, कीड़ों को नष्ट करने के लिए क्लोरोक्वारीफास दवा का छिड़काव संक्रमित और स्वस्थ, दोनों तरह के पेड़ों दोनों पर करना चाहिए। हालांकि, नीम की पत्तियों का धुंआ करके भी इन्हें खत्म किया जा सकता है। वैसे मौसम में बदलाव के साथ ही इल्लियां अपने आप ही नष्ट हो जाएंगी।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस