रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Raipur News शेयर बाजार में इंटरनेशनल कंपनियों पर रुपये लगाने और दो से तीन गुना लाभ का झांसा देकर महिला प्रोफेसर से ठगी का मामला उजागर हुआ है। आरडीए के सेवानिवृत अधिकारी से 89 लाख की ठगी करने वाले आरोपित ने ही यह कांड किया था। ठगी के नए घटनाक्रम को लेकर इसी ठग के नाम से पुरानी बस्ती थाना में एक महिला ने एफआइआर कराई है। उक्त ठग अभी रायपुर जेल में बंद है।

जानकारी के अनुसार, शैक्षणिक संस्थान से जुड़ी ममता भामकर ने अपराध दर्ज कराया गया है। ममता ने पुलिस को बताया कि दयानिधि पति नामक व्यक्ति ने वर्ष-2020 में उनसे संपर्क किया था। दयानिधि ने उनसे कहा था कि अगले दो साल में शेयर मार्केट और नए-नए मल्टीनेशनल कंपनियों में निवेश से बड़ा लाभ अर्जित किया जा सकता है। दयानिधि ने कहा कि दो से तीन गुना लाभ हो सकता है।

ममता उसके झांसे में आ गई। दो से तीन महीने के भीतर अपने अलग-अलग खातों में 53 लाख रुपये डलवा लिए। कई महीनों तक कुछ लाभ न होता देख उसने दयानिधि से पैसे लौटने को कहा तब उसने कुछ दिन और प्रतीक्षा करने को कह दिया। इधर आरडीए के सेवानिवृत अधिकारी से 89 लाख की ठगी को लेकर जब पुलिस ने उसे कोलकाता से गिरफ्तार किया, तब ममता ने भी पुलिस से संपर्क साधा। लिखित आवेदन देने के बाद जेल में बंद दयानिधि के विरुद्ध ठगी का एक और नया प्रकरण लिया गया है।

ऐसे फंसाया था जाल में

पूर्व में पकड़े गए केस में आरोपित के बारे में पुलिस ने कई बातें पता की है। पुलिस ने उसकी कार्यशैली स्पष्ट की है। पुलिस के अनुसार आरोपित पहले उन कालोनियों ने किराये पर घर लेता है, जहां बड़े लोग रहते हैं। इसके बाद वहां खुद को ऊंची पहुंच और पकड़वाला बताकर सबसे परिचित होता है। पड़ोसियों से निकटता बढ़ने के बाद स्वयं को चाटर्ड एकाउंटेंट बताकर शेयर मार्केट में पैसे लगाने के लिए कहता है।

दूसरे राज्यों में भी है वांटेड

सीएसपी राजेश चौधरी ने बताया कि आरोपित दयानिधि नागपुर, मुंबई और दूसरे शहरों में भी इसी तरह के प्रकरणों में वांटेड है। दयानिधि ओडिशा से है। उसने रायपुर में भी कई लोगों को अपने जाल में फंसाया है। फिलहाल महिला से जुड़े प्रकरण में प्राथमिकता लेकर जांच की जा रही है। आरोपित को रिमांड पर लेकर नए प्रकरण में पूछताछ की जाएगी। अब पुलिस को आशंका है कि इसने और भी कई लोगों से ठगी की होगी। इस विषय में दूसरे राज्यों की पुलिस से भी जानकारी साझा की जा रही है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close