रायपुर। रायपुर पुलिस शुक्रवार को शहर की मुख्य सड़कों पर नो-पार्किंग में खड़े वाहनों पर कार्रवाई के लिए निकली थी। यहां कई गोड़ियों को पुलिस ने लॉक किया और कुछ गाड़ियां टोह कर मोदहापारा थाना परिसर ले जाई गईं। बताया जा रहा है कि इसमें से करीब एक दर्जन गाड़ियां आयकर विभाग के उन अधिकारियों की हैं जो यहां पिछले दो दिनों से सर्वे के काम में जुटे हैं। पुलिस ने लगभग 20 गाड़ियां जप्त कीं, जिनमें से एक दर्जन गाड़ियां केंद्रीय आयकर विभाग के अधिकारियों की हैं।

बता दें कि पिछले 30 घंटों से राज्य की राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के कुछ अन्य श्ाहरों में कई कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर टीम का सर्वे चल रहा है। इनमें रायपुर के महापौर एजाज ढ़ेबर, आबकारी विभाग में पदस्थ ओएसडी अरूण पति त्रिपाठी, अनिल टुटेजा, रेरा के अध्यक्ष विवेक ढ़ांढ सहित कई प्रमुख लोगों के नाम शामिल हैं।

इस कार्रवाई के लिए केंद्रीय आयकर की कई टीमें यहां पहुंची हैं, जिनमें अलग-अलग पहचान नंबर लिखे हुए हैं। साथ ही इनमें से कुछ गाड़ियों में एक विशेष स्टीकर का उपयोग भी किया गया है। इन्हीं में से कुछ गाड़ियों को पुलिस ने जब्त किया है।

बताया जा रहा है कि रायपुर पुलिस की इस कार्रवाई के बाद आयकर विभाग के अधिकारी सकते में आ गए, लेकिन रायपुर पुलिस वाहनों की चलानी कार्रवाई की बात को लेकर डटी हुई है। अधिकारियों से चर्चा के बाद अब वाहनों का चालान किया जा राह है। बताया जा रहा है कि कुछ समय में जप्त किए गए वाहनों को पुलिस छोड़ देगी।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket