रायपुर। Political News : छत्तीसगढ़ में बढ़ते अपराध के बीच सियासी पारा गरम हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने एक ट्वीट करके कांग्रेसराज को गुंडाराज का पर्यायवाची बताया। वहीं, कांग्रेस ने पलटवार करते हुए रमन राज में हुए अपराध और गुंडागर्दी के आंकड़े गिनाए हैं।

राजधानी में पार्षद कामरान अंसारी के मामले को लेकर रमन ने ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज का पर्यायवाची गुंडाराज होता है। कांग्रेसी पुलिसकर्मियों से मारपीट कर रहे हैं। कांग्रेसी पत्रकारों से मारपीट करते हैं। कांग्रेसी आमजन से मारपीट कर रहे हैं।

बाकी गाली-गलौच, धमकी-चमकी तो आम बात है। लेकिन न केस, न गिरफ्तारी, गुंडो से है कांग्रेस की यारी। दरसअल, तीन दिन पहले राजधानी के लाल बहादुर शास्त्री वार्ड के पार्षद कामरान अंसारी का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें पार्षद एक आदिवासी युवक को मारते नजर आ रहे हैं। इस मामले में पुलिस ने एफआइआर तो दर्ज की है, लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

वर्धा गांधी धाम से लौटने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मीडिया से चर्चा में कहा कि छत्तीसगढ़ में कानून का राज है। जो भी अपराधी है, जो भी गलत किया, उसके खिलाफ कार्रवाई हुई है। रमन राज में तो एफआइआर तक नहीं होती थी। अभी यह स्थिति तो नहीं है। रमन सिंह जब अंगुली उठाते हैं, तो तीन अंगुलियां उनकी तरफ उठ जाती है। रमन सिंह के शासनकाल में सीएम हाऊस के सामने डकैती हो गई।

महिला पुलिसकर्मी का नया रायपुर में बलात्कार हो गया, लेकिन रिपोर्ट नहीं लिखी गई। इसी एयरपोर्ट में नक्सलियों को साजो-सामान उपलब्ध कराने वाले चोपड़ा बंधुओं को गिरफ्तार किया गया, लेकिन जो उन्हें लेकर आया उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने कहा कि भूपेश सरकार में कानून का राज है, कोई कितना भी बड़ा हो, गलती बर्दास्त नहीं की जाएगी, कानून अपना काम कर रहा है। मुद्दों से जूझती भाजपा लगातार झूठ, बेबुनियाद आरोप लगाकर शसक्त विपक्ष होने का झूठा प्रयास कर रही है।

रमन को शायद याद हो, तखतपुर के पूर्व विधायक और संसदीय सचिव रहे राजू सिंह क्षत्री के पुत्र द्वारा थाने में घुसकर थानेदार की पिटाई की। सरगुजा सांसद कमलभान सिंह के पुत्र देवेंद्र प्रताप ने पत्रकार राकेश गुप्ता के माता-पिता से मारपीट और थाने में तोड़फोड़, राजधानी रायपुर के गुढ़ियारी क्षेत्र में कांग्रेस के कार्यक्रम में वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में भाजपाई गुंडों ने पथराव किया और कार्यक्रम में बाधा उत्पन्न् की।

इसमें प्रदेश कांग्रेस के तत्कालीन महामंत्री गिरीश देवांगन के पैर में गंभीर चोटें आई थी। बिलासपुर कांग्रेस कार्यालय में घुसकर कार्यकर्ताओ पर रमन की पुलिस ने खुलेआम लाठियां भांजी। बलौदा बाजार में छात्रों पर बर्बरता से लाठी भांजी गई। राजधानी रायपुर के भाजपा पार्षद ने राजस्व निरीक्षक से मारपीट की, यह भी जनता ने देखा है। पाटन सड़क निर्माण लोकार्पण के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं की गुंडई शिलालेख पट्टी तोड़ना, कुर्सियां तोड़ना जैसी बड़ी प्रमुख घटनाएं जनता ने देखी है।

भाषा की दरिद्रता बनी कांग्रेस की पहचान: किरणदेव

भाजपा के प्रदेश महामंत्री किरणदेव ने कहा कि प्रदेश सरकार और कांग्रेस नेताओं को अपनी बददिमागी और बदजुबानी के लिए न केवल भाजपा, बल्कि पूरे प्रदेश से बिना शर्त माफी मांगकर अपने मानसिक असंतुलन का तुरंत इलाज कराए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बाद अब मंत्री कवासी लखमा के भाजपा को बेशर्म और डा. रमन और कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन करने पर चुल्लूभर पानी में डूब मरने की बात कही है। इस भाषा से साफ है कि कांग्रेस पहले भी लोकतंत्र के नाम पर देश की राजनीति पर एक बदनुमा धब्बा थी।

आज भी वह आपातकाल की मानसिकता से उबरने को तैयार नहीं है। नीति, नीयत और नेतृत्व के संकट से जूझती कांग्रेस वैचारिक दरिद्रता की प्रतीक बन चुकी है। अब भाषा की दरिद्रता भी कांग्रेस की पहचान बन चुकी है। कांग्रेस के सत्तावादी अहंकार के बावजूद भाजपा का किसानों और प्रदेशवासियों के पक्ष में लड़ने का जज्बा कम नहीं होगा। भाजपा कार्यकर्ता दोगुने पुरुषार्थ और पराक्रम का परिचय देंगे।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close