रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रायपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को गर्मी से निजात दिलाने के लिए मिस्टिंग शावर की टेस्टिंग शुरू हो गई है। टेस्टिंग के बाद अप्रैल के प्रथम सप्ताह में स्टेशन के सभी प्लेटफार्मों पर इसे शुरू कर दिया जाएगा। तपती गर्मी में स्टेशन पर ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों के लिए मिस्टिंग शावर की फुहारें किसी दवा से कम नहीं होतीं। यात्रियों को गर्मी से राहत दिलाने के लिए पानी की फुहारे छोड़ी जाती हैं। अप्रैल से जून माह तक मिस्टिंग शावर की व्यवस्था रहती है। रेलवे के अधिकारी का कहना है कि मिस्टिंग शावर के लिए टेस्टिंग शुरू हो गई है, अप्रैल से शुरू कर दिया जाएगा।

ज्ञात हो कि रायपुर रेलवे स्टेशन से एक दिन में करीब 70 हजार यात्री सफर करते हैं। रायपुर का तापमान गर्मी के दिनों में 40 से 47 डिग्री तक पहुंच जाता है। इस तरह की गर्मी में यहां प्लेटफार्म पर यात्रियों को काफी परेशानी होती है। कई बार ट्रेन आठ से 10 घंटे तक लेट होती है। इस वजह से प्लेटफार्म पर यात्रियों के लिए राहत का इंतजाम करना बेहद जरूरी है। रेलवे प्रशासन के मुताबिक रेलवे स्टेशन के सभी प्लेटफार्मों पर मिस्टिंग शावर को अपडेट करने के निर्देश दिए हैं। सभी प्लेटफार्म मिस्टिंग शावर की पाइप लाइन की टेस्टिंग का काम शुरू कर दिया गया है।

ट्रेन आने के पांच मिनट पूर्व होता है चालू

स्टेशन पर ट्रेन के आने से 10 मिनट पहले और ट्रेन के जाने के पांच मिनट तक मिस्टिंग शावर को चालू रखना है। यह रेलवे के नियम में है। लेकिन पिछले कई सालों से देखा जा रहा है कि स्टेशन पर दिखावे के लिए ही मिस्टिंग शावर को चलाया जाता है। अधिकारियों का दावा है कि सभी प्लेटफार्म पर नियम के मुताबिक शावर को चलाया जाएगा।

स्टेशन पर पांच हजार यात्री करते है ट्रेन का इंतजार

रायपुर रेलवे स्टेशन पर एक दिन में करीब पांच हजार यात्री ट्रेन का इंतजार करते हैं। गर्मी का पारा चढ़ते ही यात्रियों को ट्रेन का इंतजार करना भारी पड़ता है। रायपुर में पड़ने वाली गर्मी को देखते हुए स्टेशन पर मिस्टिंग शावर लगाया गया है। मिस्टिंग शावर में लगाए गए पाइप और नोजल को पांच से अधिक हो गए है। इससे पाइप पुरानी हो चुकी है। आगामी गर्मी में मिस्टिंग शावर गर्मी में यात्रियों के पसीने निकाल सकता है, इसलिए मिस्टिंग शावर को लेकर कर्मचारियों को चौकन्नाा रहने की जरूरत है, नहीं तो मिस्टिंग शावर सिर्फ शो पीस बनकर रह जाएगा।

वर्जन

मिस्टिंग शावर की टेस्टिंग शुरू हो गई है। अप्रैल से जून तक इसे चलाया जाता है, जिससे गर्मी में स्टेशन पर यात्रियों को काफी राहत मिलती है।

- कौशल किशोर, डीआरएम, रेलवे मंडल, रायपुर