रायपुर। Road Safety Campaign: रायपुर शहर की यातायात को व्यवस्थित करने के लिए 15 जगहों को चिन्हांकित कर लेफ्ट टर्न को फ्री कराया गया है। इसमें कलेक्ट्रेट चौक, शंकर नगर, पंडरी चौक, आंबेडकर अस्पताल चौक प्रमुक हैं। इससे जाम की समस्या से निजात मिली है। लगातार सड़क हादसे में मौतें होना चिंताजनक है। शहर में दुर्घटना की संख्या तो कम है, लेकिन जख्मी होने की घटनाएं बढ़ी हैं। वाहनों की तेज रफ्तार और यातायात नियमों का पालन नहीं करना हादसे के मुख्य कारण हैं। यातायात पुलिस शहर और आसपास के ग्रामीण इलाकों में जागरूकता शिविर लगाकर वाहन चालकों को हेलमेट पहन कर ही वाहन चलाने, यातायात नियमों का पालन करने को जागरूक कर रही है। इसके बेहतर परिणाम भी सामने आ रहे हैं। जब तक लोग खुद जागरूक होकर नियमों का पालन नहीं करेंगे तब तक यातायात व्यवस्थित नहीं किया जा सकता। उक्त बातें रायपुर यातायात पुलिस के एडिशनल एसपी जयप्रकाश बढ़ई ने कही। नईदुनिया के सड़क सुरक्षा अभियान की तारीफ करते हुए बढ़ई ने लोगों को जागरूक करने के साथ ही सुगम परिवहन की व्यवस्था देने पर जोर दिया। एडिशनल एसपी बढ़ई से नईदुनिया ने शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने को लेकर कई सवाल पूछे, जिसका जवाब उन्होंने दिया।

सवाल-शहर की मुख्य सड़कों पर जाम लगने की मुख्य वजह और इससे निजात पाने की क्या योजना है?

जवाब-राजधानी होने के कारण रायपुर शहर की आबादी के साथ वाहनों की संख्या लगातार बढ़ रही है। हर साल आबादी और वाहन बढ़ रहे हैं। खासकर शाम छह बजे से रात आठ बजे के बीच यातायात जाम होने की समस्या ज्यादा है। शंकरनगर, रायपुरा, टाटीबंध के अलावा शहर की मुख्य सड़कों पर जाम लगता है। यह समय ऐसा है कि लोग आफिस से निकलकर घर को लौटते है, जबकि आसपास के शहर, कस्बों से काम करने वाले भी जाते हैं, इसलिए यातायात का दबाव बढ़ने से दिक्कत होती है। फिलहाल टाटीबंध में काम चल रहा है, वहीं रायपुरा रिंग रोड में बिजली के खंभे यातायात में बाधक बन रहे हैं। इन खंभों को हटाने का काम जल्द होना है। पहले से सड़कें चौड़ी होने से काफी हद तक स्थिति में सुधार आया है। निगम और जिला प्रशासन लगातार यातायात व्यस्थित करने का काम कर रहा है। आने वाले दिनों में इस समस्या से निजात मिलने की संभावना है।

सवाल-सड़क और फुटपाथ पर लगे बिजली खंभे, ट्रांसफार्मर यातायात को बाधित कर रहे हैं। इस दिशा में क्या कार्रवाई हो रही है?

जवाब-बिजली कंपनी, नगर निगम, जिला प्रशासन और स्मार्ट सिटी मिलकर ऐसे बिजली खंभे, ट्रांसफार्मर को व्यस्थित करने का काम कर रहे हैं। रायपुरा, भाठागांव, संतोषीनगर, पचपेड़ी नाका से बिजली खंभे, ट्रांसफार्मर को सड़क से हटाकर दूसरी जगहों पर शिफ्ट किया जाना है। शांतिनगर तिराहा, महासमुंद बेरियर आदि जगहों पर भी यातायात व्यस्थित करने का काम किया जा रहा है।

सवाल-वाहन चालक यातायात नियमों का पालन नहीं करते हैं? इस पर क्या कदम उठा रहे हैं?

जवाब-यातायात नियमों का सख्ती से पालन कराने के लिए पुलिस लगातार सख्ती के साथ कार्रवाई कर रही है। चालानी कार्रवाई में इजाफा होना इसका उदाहरण है। इसके साथ ही वाहन चालकों को नियमों का पालन करने के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। स्कूलों, कालेजों के साथ सार्वजनिक स्थानों पर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

सवाल-सड़क किनारे ठेले, खोमचे और दुकानदार सामान रखकर कारोबार करते हैं। इससे जाम लगता है। कब तक ऐसा चलेगा?

जवाब-रायपुर पुलिस और नगर निगम मिलकर लगातार जांच अभियान चलाकर ठेले, खोमचे आदि को हटाने के साथ दुकानदारों का सामान जब्त करने की कार्रवाई कर रहे हैं। यह अभियान जारी है। अब और सख्ती बरती जाएगी।

सवाल-रिंग रोड की सर्विस रोड पर भारी माल वाहक वाहनों का हमेशा कब्जा रहता है। जांच अभियान भी चलाया जाता है फिर भी समस्या जस की तस है?

जवाब-रिंग रोड पर भारी मालवाहक वाहनों के खड़े होने से हादसा होने का खतरा बना रहता है। पुलिस सख्ती के साथ कार्रवाई भी कर रही है, फिर भी वाहन चालक मान नहीं रहे हैं. अब ऐसा करते पाए जाने पर मामला कोर्ट में पेश किया जाएगा।

सवाल-आटो, ई-रिक्शा की संख्या काफी बढ़ने से यातायात अव्यस्थित होने लगा है। इस पर कैसे अंकुश लगाएंगे?

जवाब-ई-रिक्शा की संख्या लगातार बढ़ रही है, ऊपर से आटो रिक्शा पहले से हैं। चालकों को यातायात नियमों का पालन करने की बात समझा रहे हैं। आगे सख्ती के साथ कार्रवाई भी करेंगे।

सवाल-यात्री बसों को कहीं भी खड़ी कर सवारी बैठाई जाती है। इससे जाम लगता है, सख्ती क्यों नहीं बरती जा रही?

जवाब-निर्धारित बस स्टाप का लोग उपयोग नहीं करते हैं। कहीं भी बस या सवारी वाहन रुकवा लेते हैं। आटो को भी कहीं भी हाथ देकर रुकवाया जाता है। बस चालकों को भी समझना चाहिए कि कहीं पर बस न रोकें। बस आपरेटरों और आटो यूनियन की बैठक लेकर समझाया जाएगा।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close