रायपुर (मृगेंद्र पांडेय)। Road Saftey Campaign Chhattisgarh मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सड़क सुरक्षा को लेकर नईदुनिया द्वारा चलाए जा रहे अभियान की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि परिवहन के नियमों का पालन करने से ही हर आदमी की जान सुरक्षित रह सकती है। बघेल ने कहा कि प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए जागरूकता की सबसे ज्यादा जरूरत है। आम आदमी यातायात के नियमों का पालन करेगा तो दुर्घटनाओं में खुद कमी आ जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार की ओर से जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। वाहन चालकों के प्रशिक्षण से लेकर स्कूलों तक में ट्रैफिक नियमों की जानकारी दी जा रही है। बघेल ने नईदुनिया की तरफ से सड़क सुरक्षा को लेकर नौ दिसंबर को आयोजित प्रदेशव्यापी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की सभी से अपील की है।

सवाल: सड़क सुरक्षा को लेकर सरकार की तरफ से क्या कदम उठाए जा रहे हैं?

जवाब: सड़क दुर्घटनाओं के लिए सिर्फ एक कारक जिम्मेदार नहीं है। इसमें पुलिस, परिवहन और स्वास्थ्य विभाग की सम्मिलित जिम्मेदारी होती है। किसी व्यक्ति के साथ सड़क दुर्घटना होती है तो उसे अस्पताल पहुंचाना, उसका समय पर इलाज कराना जरूरी होता है। इसके लिए प्रदेश स्तर पर ज्वाइंट आपरेशन टीम बनाई गई है। हाईवे पर दुर्घटना को देखते हुए हाईवे पेट्रोलिंग की सुविधा को बढ़ाया जा रहा है। दुर्घटना स्थल पर जल्द से जल्द एंबुलेंस पहुंचे, इसकी व्यवस्था की गई है, जिससे कई बड़ी दुर्घटनाओं में घायलों को बचाने में मदद मिली है।

सवाल: प्रदेश में खराब सड़कों के कारण दुर्घटनाएं हो रही हैं। उसके लिए क्या प्रयास किए जा रहे हैं?

जवाब: प्रदेश की खराब सड़कों की विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा की गई है। खराब सड़कों को तत्काल सुधारने का निर्देश दिया गया है। दिसंबर के अंत तक प्रदेश की सड़कों को गड्ढामुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है। इस दिशा में तेजी से काम हो रहा है। अधिकांश सड़कों को सुधार भी लिया गया है।

सवाल: सड़कों को और अधिक सुरक्षित बनाने के लिए क्या करना चाहिए?

जवाब: आम आदमी को सड़क पर सुरक्षित रहने के लिए सबसे पहले ट्रैफिक नियमों के बारे में जागरूक होना होगा। जब हर व्यक्ति जागरूक होगा, तो सड़क दुर्घटनाएं अपने आप कम हो जाएंगी। नियमों को तोड़ने के कारण होने वाली दुर्घटनाएं रुक जाएंगी। इसके लिए जनजागरण अभियान चलाया जा रहा है। सभी को जागरूक किया जा रहा है और ट्रैफिक नियमों की जानकारी दी जा रही है।

Posted By: Vinita Sinha

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close