Rotary Club In Raipur: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विश्वभर में जब पोलियो की विकराल समस्या थी, तब अनेक देशों ने पोलियो मुक्ति का अभियान चलाया था। भारत में भी पोलियो का टीकाकरण करने और जागरूकता फैलाने में रोटरी क्लब ने अहम भूमिका निभाई थी। कई सालों से रोटरी क्लब के नेतृत्व में सेवाभावी कार्यों को अंजाम दिया जा रहा है। भविष्य में भी सेवा, जागरूकता के कार्य किए जाएंगे। उक्त विचार रोटरी क्लब के 66वें स्थापना दिवस पर पूर्व अध्यक्ष आइबीएस बत्रा ने व्यक्त किया। सदस्यों ने सादगी से केट काटकर स्थापना दिवस मनाया।

इस मौके पर पूर्व प्रांतपाल रोटेरियन सुभाष साहू ने बताया कि छत्तीसगढ़ में रोटरी क्लब की स्थापना 24 सितंबर 1956 को की गई थी। रोटेरियन टीसी सेबोल्ड अध्यक्ष एवं सचिव रोटे एचके रुद्रा थे। पूर्व अध्यक्ष वासुदेव नारंग, रोटेरियन डाक्टर इंदिरा मिश्रा, पूर्व अध्यक्ष राजेंद्र चांडक एवं पूर्व अध्यक्ष डाक्टर प्रीता लाल ने भी क्लब के गौरवशाली अतीत एवं सेवा के क्षेत्र में हासिल की जाने वाली उपलब्धियों को याद किया। पूर्व अध्यक्ष रोटे गिरीश वोरा ने बताया कि छत्तीसगढ़ में कटे फटे होठों वाले लोगों का इलाज सबसे पहले रोटरी क्लब ने ही करवाया था।

सचिव नामोचंद मोरयानी एवं उपाध्यक्ष प्रदीप गोविंद शितूत ने बताया कि रोटरी क्लब के नेतृत्व में शासकीय शालाओं में कंप्यूटर लगाना, भवन निर्माण, पौधरोपण, रोटरी वाटिका का निर्माण, आदिवासी महिलाओं को साड़ियांं बांटना , स्लम एरिया के बच्चों, वृद्धजनों को राशन आदि वितरण करने जैसे अनेक कार्य अनवरत जारी है।

कार्यक्रम में क्लब के आगामी अध्यक्ष भरत डागा, पूर्व अध्यक्ष महावीर गोलछा, रोटेरियन समीर रक्षित , शेखर अमीन, रोटेरियन हंसराज राठौड़, विश्वदीप शुक्ला, अजय अग्रवाल, एन चंद्रवंशी, आलोक पाटनी, लोकमनी यादव, किशोर कुमार जायसवाल, मालती चांडक, प्रीति शुक्ला, किरनजीत कौर बत्रा, अंजली शितूत आदि शामिल हुए। संचालन क्लब के अध्यक्ष रोटेरियन उज्जवल सिंह बत्रा ने किया।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local