RTI Chhattisgarh News: रायपुर। राज्य ब्यूरो, छत्तीसगढ़ में लंबे समय से सूचना के अधिकार में जानकारी देने से विभाग के अधिकारी टाल-मटोल कर रहे थे। इसकी शिकायत राज्य सूचना आयोग में पहुंची, तो मुख्य सूचना आयुक्त से लेकर सूचना आयुक्त तक ने कार्रवाई शुरू की। पिछले एक सप्ताह में आठ जनसूचना अधिकारी पर करीब चार लाख स्र्पये का अर्थदंड लगाया गया। इसमें पंचायत के सचिव से लेकर वन विभाग और राजस्व विभाग के अधिकारी शामिल हैं। सूचना आयोग के आला अधिकारियों ने बताया कि विभाग के अधिकारी सामान्य जानकारी देने में भी विलंब कर रहे हैं। कई बार वास्तविक जानकारी के लिए लोगों को भटकना पड़ रहा है।

  • - सूचना आयुक्त ने पंचायत के पांच जनसूचना अधिकारी पर लगाया 25-25 हजार का अर्थदंड

सूचना के अधिकार में पंचायत में खर्च, रोकड़ बही, पंचायत में बैठक की कार्रवाई और अन्य जानकारी मांगी गई, लेकिन उसे उपलब्ध नहीं कराया गया। ऐसे ही निजी भूमि का खसरा, पंचशाला और सीमांकन की सत्यापित प्रति के लिए लोगों को भटकना पड़ रहा है। कानन पेंडारी में सफेद बाघ की मौत की जानकारी को भी विभाग ने छिपाया। नीतिन सिंघवी ने कानन पेंडारी जू में दिसंबर 2018 में सफेद बाघ की मौत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की मांग की थी। एक अन्य मामले में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालय निर्माण के लिए हितग्राहियों को जारी राशि के चेक की काउंटर फाइल की मांग की थी। इसे भी अधिकारियों ने उपलब्ध नहीं कराया।

राज्य सूचना आयुक्त धनवेंद्र जायसवाल ने जानकारी उपलब्ध नहीं कराने और लापरवाही के लिए तीन जनसूचना अधिकारियों को पांच प्रकरणों में 25-25 हजार स्र्पये का अर्थदंड लगाया। मुख्य सूचना आयुक्त एमके राउत ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में सरकार एवं प्रशासन की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता एवं जिम्मेदारी को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से सूचना का अधिकार अधिनियम प्रभावशील है। सरकार के क्रियाकलापों के संबंध में नागरिकों को जानकार बनाने के लिए यह अधिनियम मील का पत्थर साबित हो रहा है। ऐसे में सूचना छिपाने वालों पर अब कार्रवाई शुरू की गई है।

इन अधिकारियों ने की कार्रवाई

छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग के मुख्य सूचना आयुक्त एमके राउत ने ग्राम पंचायत उसलापुर के जनसूचना अधिकारी अजय वस्त्रकार को आठ मामलों में दो लाख स्र्पये का जुर्माना लगाया। राज्य सूचना आयुक्त एके अग्रवाल ने तहसीलदार जगदलपुर (आनंद राम नेताम) को दो प्रकरण में 28 हजार स्र्पये, वन परिक्षेत्राधिकारी कानन पेंडारी जू (अजय शर्मा) को दो प्रकरण पर 50 हजार का अर्थदंड लगाया और राशि जमा करके चालान आयोग कार्यालय में भेजने का निर्देश दिया।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local