रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)

राजधानी के बूढ़ातालाब में शाम को अब रंगीन नजारे का लुत्फ उठाने वालों के साथ स्वसहायता समूहों की महिलाओं द्वारा तैयार छत्तीसगढ़ी पकवान को खरीदने के लिए स्टालों पर लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है। ठेठरी, खुमरी, सलोनी, नमकीन आदि पकवान को अधिक पसंद किया जा रहा है।

सुंदरीकरण के बाद बूढ़ातालाब में सुकून, मनोरंजन और सैर-सपाटे के लिए परिवार के साथ बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। वहीं पर स्वसहायता समूहों की महिलाओं के उत्पादों के स्टाल लगे हैं। घूमने आने वाले लोग महिलाओं के हाथों बने स्वादिष्ट छत्तीसगढ़ी पकवानों का स्वाद ले रहे हैं साथ ही खरीदकर ले जा रहे हैं। स्टालों में पूजा के काम आने वाली गोबर व मिट्टी से बनी वस्तुएं, दीये, सजावटी सामान समेत विविध उत्पाद मिल रहे हैं। ये उत्पाद आम लोगों को खूब पसंद आ रहे हैं। छोटे बच्चों के साथ महिलाओं, युवक-युवतियों का यहां आना-जाना लगा हुआ है। रायपुर कलेक्टर डा. एस भारतीदासन और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरव सिंह भी लगातार सेरीखेड़ी के महिला स्वसहायता समूह की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। इसी का परिणाम है कि यहां की सैकड़ों महिलाएं रोजगार से जुड़ गई हैं और आत्मनिर्भरता की राह पर आगे बढ़ रही हैं।

बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल के बाद निखरा बूढ़ातालाब का नया रूप सबको लुभा रहा है। शहर के मध्य स्थित इस तालाब को विकसित करने के साथ ही आम लोगों को मनोरंजन एवं पर्यटन स्थल की सुविधा उपलब्ध कराने की विशेष पहल की गई है। यहां सभी आयु वर्ग के लोगों का ध्यान रखा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close