रायपुर (संजीत कुमार)। जशपुर जिला भाजपा के दिग्गज नेता स्व. दिलीप सिंह जूदेव का गढ़ है। जशपुर राजपरिवार के जूदेव ऑपरेशन घर वापसी यानी हिंदू धर्म छोड़ चुके लोगों को वापस अपने धर्म में लाने की अपनी मुहिम की वजह से चर्चित रहे हैं। माना जाता है कि इसी वजह से पूरा जशपुर जिला लंबे अर्से से भाजपा का गढ़ बना हुआ है। जिले में विधानसभा की कुल तीन सीटें हैं। तीनों आदिवासियों के लिए आरक्षित है। सभी सीटों पर भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला होता है। तीसरी पार्टी और बागियों की दाल यहां अब तक नहीं गली है। तीन में से दो सीटों पर भाजपा का लगातार कब्जा रहा, लेकिन पत्थलगांव सीट उसकी पकड़ से बाहर थी। 2013 में वहां भी कांग्रेस का किला ढह गया।

45 से 50 फीसद पर पहुंची भाजपा

राज्य स्थापना के बाद 2003 में हुए पहले चुनाव में भाजपा ने दो सीट हासिल किए। पार्टी के खाते में करीब 45 फीसद वोट आया। 2008 में भी पार्टी के खाते में दो ही सीटें आईं, वोट करीब एक फीसद बढ़ा। 2013 के चुनाव में पार्टी के वोट प्रतिशत में चार फीसद की बढ़ोतरी हुई। 50 फीसद वोट के साथ भाजपा ने जिले की तीनों सीट पर कब्जा कर लिया।

उतार-चढ़ाव भरा कांग्रेस का सफर

वोट शेयर के लिहाज से भाजपा का सफर जिनता सुहाना रहा, कांग्रेस के रास्ते उतने ही पथरीले। 2003 में 37 फीसद वोट हासिल कर कांग्रेस केवल एक सीट जीत पाई। 2008 पार्टी का वोट शेयर 42 फीसद तक पहुंचा, लेकिन सीट एक की एक ही रही। 2013 में पार्टी की इकलौती सीट भी छिन गई और वोट में हिस्सेदारी भी गिर कर 35 फीसद पर आ गई।

पहली बार पलटा पत्थलगांव

जिले की त्पथलगांव सीट 2013 के चुनाव से पहले कांग्रेस का अभेद किला माना जाता था। पार्टी के रामपुकार सिंह लगातार इस सीट से जीत दर्ज कर रहे थे। रामपुकार राज्य की पहली सरकार में मंत्री थे, इसके बावजूद 2003 की सत्ता विरोधी लहर में वे अपनी सीट बचा ले गए, लेकिन 2013 में भाजपा के शिवशंकर पैकरा ने 39सौ वोट से पटखनी दे दी।

98 से आमने-सामने थे विष्णु और राम

पत्थलगांव सीट पर कांग्रेस के रामपुकार और भाजपा के विष्णुदेव साय 1998 से 2008 तक लगातार आमने-सामने रहे। हर बार कांग्रेस के राम भाजपा के विष्णु पर भारी पड़े। 2013 में भाजपा ने पहली बार साय की टिकट काटी और पार्टी यह सीट जीत गई। हालांकि बाद में विष्णुदेव 2014 में लोकसभा का चुनाव जीतकर संसद पहुंच गए।

बढ़ते वोट का फायदा उठा रही भाजपा

जशपुर जिले के वोटर जागरूक हैं। पिछले चुनाव में 78 से 81 फीसद तक मतदान हुआ। हालांकि पत्थलगांव सीट को छोड़कर बाकी दोनों सीटों पर 2003 के मुकाबले 2008 में मतदान कम हुआ, फिर औसत 71 से 77 फीसद तक रहा।

वोट व सीट की स्थिति

पार्टी भाजपा कांग्रेस

वर्ष वोट सीट वोट सीट

2003 45.25 2 36.97 1

2008 46.05 2 42.00 1

2013 49.67 3 35.01 0

मतदान का हाल

सीट 2003 2008 2013

जशपुर 75.21 71.64 78.28

कुनकुरी 74.39 73.54 78.83

पथलगांव 75.27 77.59 81.34

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना