रायपुर। कोरोना की भयवाह दूसरी लहर में जहां बेड, ऑक्सीजन और दवाओं का संकट खड़ा हो गया है। ऐसे में छत्तीसगढ़ के कुछ नौजवानों ने ‘सर्वे संतु निरामया’ नाम का एक वाट्सएप ग्रुप बनाया है। जो लोगों के लिए उम्मीद की किरण बनकर उभरा है। किसी को दवा, ऑक्सीजन या बेड की जरूरत हो और इस ग्रुप में एक संदेश आते ही ग्रुप के वारियर्स मदद के लिए आगे आ जाते हैं। दिन हो या रात हर वक्त लोगों की मदद के लिए तत्पर इन कोरोना योद्धाओं की कोशिश का ही असर है कि अब तक ग्रुप के माध्यम से हजारों परिवारों को समस्या का समाधान मिला है।

इन कोरोना योद्धाओं की परोपकार की सफल कहानी काफी प्रेरणादायक है। जो सूचनाक्रांति को तकनीक का बेहतर उपयोग करके इस वैश्विक महामारी में लोगों की टूटती सांसों जोड़ने के लिए ऑक्सीजन, जान बचाने वाले इंजेक्शन, दवाएं और अस्पतालों में बेड मुहैया कराने के प्रयास में लगे हैं। ग्रुप के संस्थापक एवं एडमिन प्रकाश बजाज लगातार ग्रुप के सदस्यों को प्रोत्साहित करते रहते हैं। इस महामारी के दौर में आने वाली चुनौतियों को लेकर प्रकाश बजाज समय समय पर वेबिनार कर बाकी सदस्यों से संवाद करने की हर कोशिश करते हैं।

इस वेबिनार के जरिये समाज के हर तबके के लोगों को जोड़ा गया और कोविड के इस दौर में अब तक के कामों की समीक्षा की गई साथ ही आने वाले वक्त की चुनौतियों को लेकर रूपरेखा भी बनाई गई। ग्रुप में महिला सदस्य भी लगातार तत्परता से लोगों की भलाई के लिए सक्रिय हैं। वेबिनार के बीच जहां सदस्यों ने अपने अनुभव साझा किए, वहीं सदस्य अर्चना सत्यदेव ने बताया की जल्द ही सर्वे संतु निरामया के जरिये ऑक्सीजन सुविधा से लैस एंबुलेंस (Yss संस्था की मदद से) लोगों की परेशानी दूर करने के लिए सड़कों पर मौजूद होगी।

साथ ही जरूरतमंदों तक दवाओं को पहुंचाने के लिए भी योगदा सत्संग सोसायटी ऑफ इंडिया, रांची नौजवानों के सर्वे संतु निरामया ग्रुप के साथ है। वेबिनार के वक्त गांवों में टीकाकरण को रफ्तार कैसे दी जाए, इस पर विस्तृत चर्चा हुई। शहरों के मुकाबले ग्रामीण इलाकों में टीकाकरण की धीमी गति को रफ्तार देने के ग्रूप के सदस्य ओम प्रकाश साहू जहां हर सुबह गांव पहुंच कर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करते हैं, वहीं तोषण साहू ने टीकाकरण की सुविधा के लिए लगातार कोशिशें तेज कर दी हैं।

कोरोना की दूसरी लहर के बीच में ब्लैक फ़ंगस को लेकर लोगों के डर और सवालों का जवाब खुद डॉक्टर मिथिलेश शर्मा (ENT सर्जन) ने दिए। उन्होंने समूह की सराहना करते हुए भरोसा जताया कि प्रदेश के ग्रामीण हिस्सों में कोरोना और ब्लैक फंगस के पहुंचने से पहले ग्रुप के सदस्यों की कोशिशें रंग लाएंगी।

डॉक्टर प्रदीप टंडन ने चुनौतियों पर चर्चा के दरमयान बिना डॉक्टर के सुझाव किसी भी दवा को लेने से बचने की सलाह दी। उन्होंने भरोसा दिया कि कॉल पर लोगों की समस्याओं का समाधान करने के लिए हमेश तत्पर हैं। परिचर्चा में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह प्रांत प्रचारक नारायण नामदेव जी ने सदस्यों को कोशिशों की सराहना करते हुए दोहराया कि मुश्किल वक्त में नर सेवा ही नारायण सेवा के मंत्र के साथ आगे बढ़ना है।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local