रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

पिछले कुछ सालों से देशभर में 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाए जाने का चलन बढ़ रहा है। इसमें प्यार में पड़े युवक-युवतियां एक-दूसरे को गुलाब फूल देकर प्यार का इजहार करते हैं। इसकी आड़ में अश्लीलता पनपने लगी है। भविष्य में इसका विपरीत असर बच्चों, युवाओं पर पड़ेगा। इसके मद्देनजर बच्चों में भारतीय संस्कारों को बढ़ावा देने के लिए तेलीबांधा तालाब (मरीन ड्राइव) में मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाया जाएगा। बच्चे अपने माता-पिता का पूजन करके आशीर्वाद लेंगे।

पाश्चात्य शैली से हो रहा नैतिक पतन

साधक परिवार के प्रेम गोविंदानी ने बताया कि पाश्चात्य शैली, अश्लील चलचित्र, अश्लील साहित्य, व्यसन, अशुद्घ आहार-विहार एवं इंटरनेट पर अश्लील दृश्य दिखाए जाने से भारतीय संस्कारों का पतन हो रहा है। बच्चे भारतीय संस्कारों को भूलते जा रहे हैं। इसके चलते बच्चों में 'मातृ देवो भवः, पितृ देवो भवः' की भावना जगाना हमारा उद्देश्य है।

दोपहर से रात तक माता-पिता का पूजन

तेलीबांधा तालाब के किनारे दोपहर 3 से माता-पिता पूजन कार्यक्रम शुरू होगा। रात्रि 10 बजे तक होने वाले कार्यक्रम में सैकड़ों माता-पिता की पूजा बच्चे करेंगे। माता-पिता को ऊंचे आसन पर बिठाकर उनका तिलक करेंगे, अक्षत चढ़ाएंगे, फूलमाला पहनाएंगे, प्रणाम कर सात प्रदक्षिणा करेंगे। माता-पिता भी बच्चों को आशीर्वाद देंगे।

बाल संस्कार केन्द्र के बच्चे देंगे प्रस्तुति

कार्यक्रम के दौरान बाल संस्कार केन्द्र के बच्चे रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। इसमें माता-पिता की महिमा संबंधी गीत, नाटक की प्रस्तुति दी जाएगी।

सेल्फी जोन आकर्षण का केन्द्र

तालाब के समीप आकर्षक सेल्फी जोन बनाया जा रहा है। यहां माता-पिता बच्चे एवं अभिभावक मोबाइल से सेल्फी खिंचवाकर यादों को सहेंजेंगे।

12 फरवरी, श्रवण शर्मा, 05

समय - 7.00 बजे

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस