रायपुर। शदाणी दरबार तीर्थ के नौवें पीठाधीश्वर संत डा. युधिष्ठिरलाल की अध्यक्षता में 125 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान पहुंच गया है। शदाणी दरबार तीर्थ के सचिव उदय शदाणी ने बताया कि पाकिस्तान में इस समय संत डा. युधिष्ठिरलाल के पहुंचने पर घरों एवं गलियों को सजाया गया है और लोगों में अलौकिक उत्साह देखने को मिल रहा है।

शदाणी दरबार तीर्थ के आदि स्थान हयात पित्ताफी पहुंचा

गुरुवार सुबह पूज्य संत और जत्था दरबार हयात पिताफी पहुंचा। वहां हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने संत और जत्थे का स्वागत किया। इसके बाद हवन यज्ञ के बाद झंडा ध्वज मेडिकल कैंप का शुभारंभ हुआ, साथ ही अन्य धार्मिक, सामाजिक कार्य हुए। पाकिस्तान में सिंध से आए हजारों श्रद्धालु एवं पाकिस्तान वक्फ बोर्ड के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने जत्थे का स्वागत किया। यहां शादाराम-धूणी वाले महादेव की जय की जयकारों से वाघा बार्डर गूंज उठा।

भारत से गए 125 तीर्थ यात्री पहुंचे लाहौर, हुआ भव्य स्वागत

यहां पहुंचने पर संत डा. युधिष्ठिरलाल ने कहा कि हम पाक में शदाणी दरबार तीर्थ के संस्थापक संत शादराम साहिब के 315वें जन्मोत्सव में भाग लेने के लिए 125 हिंदू तीर्थ यात्रियों के साथ आए हैं। हम भारत के गौरवशाली संस्कृति से पाक के आम जन को आवगत कराएंगे, जिससे दोनों देशों में सद्भाव का वातावरण बना रहे। हमारा हर वर्ष प्रयास होता है कि हम अपनी संस्कृति का प्रचार-प्रसार करें।

प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान में भी भारतीय परंपरा और संस्कृति की तर्ज पर संस्कार देखें। प्रतिनिधिमंडल का दल तीन दिन तक हयात पित्ताफ़ी में रहेंगे, जहां 51 सामूहिक विवाह एवं 101 यज्ञोपवीत का कार्यक्रम है। इसके बाद भगवती माता हांसी देवी जी के जन्म स्थली स्वर्ण मंदिर खानपुर जाएंगे। इसके बाद वेद भूमि माथेलो (जहां चारों वेदों की रचना हुई थी) घोटकी, मीरपुर, ढहरकी जाने का कार्यक्रम है। इस दौरान यहां रहने वाले हिंदुओं द्वारा अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close