रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना महामारी के दो साल बाद जम्मू-कश्मीर स्थित बाबा अमरनाथ की यात्रा पर मंगलवार को राजधानी से 150 से अधिक श्रद्धालु रवाना हुए। राजधानी में ऐसे अलग-अलग समूह हैं, जो कि एक-दो साल से नहीं बल्कि 20 से 25 वर्ष से अमरनाथ की यात्रा कर रहे हैं।

कोविड-19 की वजह से दो साल बाद शुरू हो रही यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में उत्साह छलक रहा था। न तो कोरोना महामारी का डर था और न ही किसी प्राकृतिक आपदा को लेकर आशंका। मंगलवार को दोपहर 12.30 बजे जैसे ही ट्रेन स्टेशन पहुंची, परिसर भोलेनाथ के जयकारे से गूंज उठा। भूखों को अन्ना, प्यासों को पानी, जय बाबा बर्फानी के जयकारे लगाते हुए श्रद्धालु रवाना हुए। हर ग्रुप में 10 से 15 श्रद्धालु हैं। कोई परिवार के साथ तो कोई दोस्तों के साथ हैं।

इस बार 26वीं यात्रा

टिटलागढ़ ओडिशा निवासी सुनील सब्रवाल ने बताया कि इस साल उनकी 26वीं यात्रा है। ऊपर वाले की कृपा से आज तक कोई परेशानी नहीं हुई। उन्होंने कहा-हर साल भोलेनाथ का बुलावा आ जाता है। इस साल पैरों में चोट लगी थी, उम्मीद कम थी, लेकिन भाग्य ने साथ दिया, चोट ठीक हो गई है। उनके साथ भाठागांव के दीपक सोनकर, रमेश सोनकर भी नौ बार जा चुके हैं। उनके ग्रुप में पहली बार एमएस नारायणा, आरएम बुड़ी, एमएन राव, एमएस राव भी जा रहे हैं।

माता कौशल्या बर्फानी ग्रुप

माता कौशल्या बर्फानी ग्रुप चंद्रखुरी के दिनेश ठाकुर की यह 12वीं यात्रा है। इसी तरह राजेंद्र गौतम सात, चंद्रिका वर्मा 11 बार व सत्यदेव वर्मा सात बार यात्रा कर चुके हैं। उनके साथ महिला रेखा सिंह चार बार, पार्वती मिश्रा दूसरी बार और वीणा सिंह पहली बार यात्रा कर रही हैं।

देश-प्रदेश की समृद्धि, कोरोना से मुक्ति की प्रार्थना

बातचीत में सभी श्रद्धालुओं ने एक ही चाहत जताई कि वे भगवान भोलेनाथ से अपने परिवार, समाज और देश-प्रदेश की समृद्धि तथा कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए प्रार्थना करेंगे। बूढ़ेश्वर मंदिर के पुजारी पं. महेश पांडेय और अन्य पंडितों ने शंख की ध्वनि से स्टेशन परिसर को गुंजायमान कर दिया। अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले सभी श्रद्धालुओं को तिलक लगाकर और फूल माला पहनाकर सफल यात्रा की शुभकामना दी गई। दुर्ग से पहुंची जम्मूतवी ट्रेन में राजनांदगांव, दुर्ग, बालोद, डोंगरगढ़ के भी यात्रियों ने भी बाहर आकर भोलेनाथ के जयकारे लगाए। इससे स्टेशन में भक्ति भाव छाया रहा।

राजधानी के अलावा अन्य जिलों के यात्री

12 बार यात्रा पर जा चुके अतुल भाई पटेल ने बताया कि राजधानी से रवाना होने वाले श्रद्धालुओं में धमतरी, कांकेर, जगदलपुर, राजिम, महासमुंद के भी यात्री शामिल हैं। इनमें से अनेक श्रद्धालु पहली बार जा रहे हैं तो कुछ पांच-छह बार यात्रा कर चुके हैं।

अमरनाथ यात्रा सेवा समिति, भंडारे में सेवा

श्रीअमरनाथ सेवा समिति के गंगाप्रसाद यादव की यह 26वीं यात्रा है। इसी तरह अतुल कुमार पटेल 12 बार यात्रा कर चुके हैं। उनके साथ हितेश टांक, सुशील साठे, विजय बहादुर सिंह, मधु भाई, विकास नाधवानी, रघुविंदर शर्मा, योगेश राठौर, अरविंद पटेल, हिरेंद्र परमार समेत 50 से अधिक युवा, महिलाएं हैं। समिति के गंगाप्रसाद ने बताया कि श्रद्धालुओं के लिए भटिंडा की श्रीअमरनाथ सेवा ट्रस्ट के नेतृत्व में नाश्ता, भोजन, दवाई की निश्शुल्क सुविधा दी जाती है। राजधानी के सेवादार भी सेवा देंगे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close