रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Shri Krishna Janmashtami 2022: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व शुक्रवार को शहरभर में धूम-धाम से मनाया जाएगा। इसकी तैयारियां पूरी हो चुकी है। शहर के प्रमुख मंदिरों में विशेष पूजन के साथ ही विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम होंगे। साथ ही शहर के अलग-अलग स्थानों में दही हांडी प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

राजधानी के इस्कान मंदिर, श्री दूधाधारी मठ, श्री जैतूसाव मठ, श्याम खाटू मंदिर, राधा कृष्ण मंदिर समता कालोनी, सदर बाजार गोपाल मंदिर, पुरानी बस्ती गोपाल मंदिर आदि मंदिरों में आयोजन की तैयारियां पूरी कर ली गई है। ईस्कान मंदिर में जन्माष्टमी महा महोत्सव की शुरूआत गुरूवार से हुई।

मंदिर के अध्यक्ष एचएच सिद्दार्थ स्वामी व त्यौहार समिति के चेयरमेन राजेश अग्रवाल ने बताया कि महा महोत्सव की शुरूआत दीप प्रज्जवलित कर की गई। पदाधिकारियों ने कहा कि दो वर्ष कोरोना की वजह से कई बड़े आयोजन नहीं हो रहे थे, लेकिन इस वर्ष बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हो रहे हैं। मंदिर में विशालकाय पंडाल बनाया गया है, जहां महा महोत्सव की पहले दिन कार्यक्रम रात 8 बजे तक चला। यहां बच्चों ने गीत-संगीत की प्रस्तुति दी। श्री कृष्ण जन्मोत्सव कार्यक्रम शुक्रवार को धूमधाम से मनाया जाएगा।

विशेष श्रृंगार के दर्शन दोपहर 12 बजे से

समता कालोनी स्थित श्री राधाकृष्ण मंदिर में श्री कृष्ण जन्मोत्सव को धूमधाम से मनाने तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं। जन्माष्टमी उत्सव का शुभारंभ सुबह 9 बजे दुग्ध अभिषेक से होगा। मंदिर के प्रचार-प्रसार प्रभारी सत्येंद्र अग्रवाल ने बताया कि पर्व को यादगार बनाने के लिए विशेष तैयारियां की जा रही हैं।

कोलकाता के हुनरमंद कारीगरों द्वारा प्रतिमा एवं संपूर्ण मंदिर परिसर का आकर्षक श्रृंगार किया जा रहा है। मंदिर समिति के अध्यक्ष घनश्याम पोद्दार एवं सचिव रमाशंकर पांडे ने बताया कि जन्माष्टमी पर्व पर शुक्रवार को सुबह 9 बजे से 101 किलो दूध से भगवान श्री कृष्ण का अभिषेक किया जाएगा, वही दोपहर 12 बजे से श्रृंगार भक्तों के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगा।

उपाध्यक्ष हरीश अग्रवाल ने बताया कि शाम 4 बजे से श्री कृष्ण जी की झांकी दर्शन प्रारंभ हो जाएगा। अर्ध रात्रि में भगवान का जन्म उत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। महा आरती में भक्त जन शामिल होकर पूजन आरती एवं प्रसादी का पुण्य लाभ प्राप्त करेंगे। महिला मंडल के अनुसार दूसरे दिन शनिवार 20 अगस्त को दोपहर एक बजे से रानी सती दादी जी का मंगल पाठ प्रारंभ होगा जो शाम तक अनवरत चलेगा तक तदुप्रांत प्रसादी वितरण भंडारा का आयोजन किया गया है।

रावणभाठा दशहरा मैदान में आज दही हांडी लूट

प्रसिद्ध रावणभाठा दशहरा मैदान में दही हांडी प्रतियोगिता का आयोजन शुक्रवार को होगा। सुबह 10 बजे ऐतिहासिक दूधाधारी मंदिर मठ से भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना कर भक्त जन उन्हें मटका फोड़ने के लिए आमंत्रित करेंगे और रथ में बैठकर भगवान श्रीकृष्ण की भव्य शोभायात्रा बाजे गाजे,डीजे की धुन के साथ रावणभाठा मैदान की ओर अग्रसर होगी।

कार्यक्रम स्थल पर अन्य प्रतियोगिता भी होगी, वहीं शाम को पुरस्कार वितरण समारोह होगा। आयोजन समिति के संयोजक सच्चिदानंद उपासने और अध्यक्ष माधवलाल यादव ने बताया कि जन्माष्टमी पर होने वाली दही हांडी लूट प्रतियोगिता, जिसमें क्रेन मोटर की सहायता से लटके हुए मटकी को 25 फीट की ऊंचाई पर 15 फीट की ऊंचाई पर और 11 फीट की ऊंचाई पर तीन वर्गों में महिला-पुरुष लड़के लड़कियां तोडेंगे, जिसके लिए उन्हें 31000 हजार रुपए, 15000 हजार और 11000 हजार रूपये के नगद पुरस्कार और शील्ड दिए जाएंगे।

दही हांडी हेतु गोविंदा मंडियों का पंजीयन प्रारंभ हो चुका है और पंजीयन स्थल में भी मंडली उपस्थित होकर पंजीयन करा कर प्रतियोगिता में शामिल हो सकते है। दही हंडी प्रतियोगिता में इस बार छोटे बच्चे अर्थात् 5 से 10 वर्ष तक के बच्चों के लिए श्रीकृष्ण बनो फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का भी आयोजन रखा गया है। बच्चों को अपने घर से तैयार होकर आना होगा। दही हंडी लूट प्रतियोगिता के उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि महापौर एजाज ढेबर महापौर होंगे जबकि अध्यक्षता गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष महंत रामसुंदर दास जी करेंगे।

गायत्री परिवार का गीत-संगीत का कार्यक्रम

गायत्री शक्ति पीठ समता कालोनी में गायत्री परिवार ट्रस्ट के द्वारा श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के मौके पर कृष्ण कन्हैया लाल के नाम गीत-संगीत का कार्यक्रम दिन में सुबह 11 बजे से शुरू होगा, जो लगभग दोपहर को एक बजे तक चलेगा। गायत्री शक्ति पीठ से मिली जानकारी के अनुसार शक्ति पीठ में ही दोपहर तक गीत संगीत और भजन कार्यक्रम की प्रस्तुति रखी गई है।। इस कार्यक्रम में भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव के साथ ही उनके लीलाओं का वर्णन भी किया जाएगा।

स्वर्ण आभूषण से सजेंगे राधा-कृष्ण

श्री जैतूसाव मठ में श्री कृष्ण व राधारानी को स्वर्ण आभूषणों से सजाया जाएगा। रात्रि 12 बजे श्री कृष्ण जन्मोत्सव के बाद महाआरती की जाएगी। इस उत्सव में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। महोत्सव के दूसरे दिन 20 अगस्त को दोपहर 1 बजे राजभोग आरती होगी, जिसमें 8 क्विटंल मालपुआ का भोग लगाया जाएगा। मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि 20 अगस्त को शाम 5 बजे से मास्क पहनकर आने वाले श्रद्धालुअेां को ही प्रसाद वितरण किया जाएगा।

मांग इतनी कि परिधान पड़ गए कम

राजधानी में श्री कृष्ण जी के परिधान को लेकर मांग इतनी है कि बाजारों और दुकानों में परिधानों की कमी पड़ गई। प्रमुख मंदिरों के साथ-साथ सामाजिक संगठनों द्वारा प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें बच्चों को श्री कृष्ण के रूप में तैयार किया जाएगा। साथ ही स्कूलों में भी दही हांडी लूट का आयोजन किया गया है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close