रायपुर। राजेंद्रनगर बजरंग चौक निवासी 50 वर्षीय भागवत भारती की पखवाड़े भर पहले हुई संदेहास्पद मौत का मामला हत्या का निकला। पुलिस ने हत्या के इस मामले में बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल सात सितंबर की रात भागवत भारती नशे की हालत में घर पहुंचा। उसकी बहू ने खाना परोसा, सब्जी करेले की थी। इसी को लेकर विवाद खड़ा हो गया। भागवत ने गाली-गलौज करना शुरू कर दिया।

परिवार के अन्य सदस्य भी विवाद सुनकर पहुंचे। इसी दौरान पिपरमेंट फैक्टरी में कार्यरत भागवत का सबसे छोटा बेटा हेमंत भारती (22) आया। उसने पिता को समझाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माना। तब गुस्से में आकर उसने पिता की पिटाई करनी शुरू कर दी। पिता घर से भागने लगा तो पीछे से उसका कालर पकड़कर हेमंत घसीटते हुए कमरे में ले जाने लगा।

इसी दौरान गले में बंधे लाल रंग के धागे से गला दबने के कारण भागवत की दम घुटने से मौत हो गई। परिजनों ने सोचा कि वह नशे की हालत में सो गया है, लेकिन जब सुबह तक वह नहीं उठा, तब डाक्टर को बुलाकर दिखाया। डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परिवार के लोग सामान्य मौत बताकर भागवत का अंतिम संस्कार करने की तैयारी कर ही रहे थे कि आसपास के लोगों ने संदेह होने पर सिविल लाइन पुलिस को इसकी सूचना दे दी। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम कराया।

पीएम रिपोर्ट में गला दबने से मौत होने की पुष्टि के बाद गुरुवार को हेमंत भारती को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया गया। पुलिस को दिए गए बयान में परिवार के लोगों ने बताया था कि भागवत ने अपने बेटे के साथ झगड़ा शुरू कर दिया।

विवाद मारपीट में बदल गया और फिर भागवत के पेट व गले में बेटे हेमंत ने घूसे मारे, पैर से दबाया। जिसके बाद भागवत जमीन पर गिर गया और उसकी मौत हो गई।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket