रायपुर। Guru Gobind Singh Jayanti 2021: सिख धर्म के गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर हर साल भव्य नगर कीर्तन यात्रा निकाली जाती थी। करीब 10 किलोमीटर की दूरी तय करके यात्रा जब पंडरी गुरुद्वारा पहुंचती थी तब भव्य आतिशबाजी देखने के लिए हजारों लोग उमड़ते थे।

इस साल कोरोना महामारी के चलते कीर्तन यात्रा नहीं निकालने का फैसला सिख समाज ने लिया और सादगी के साथ प्रकाश पर्व का शुभारंभ हुआ। दो दिवसीय आयोजन के पहले दिन मंगलवार को सुबह आठ बजे विशेष दीवान के समक्ष मत्था टेकने और अरदास करने सिख समाज के लोग पहुंचे। दोनों समय सुबह और शाम कीर्तनकारों ने शबद गायन से समां बांध दिया।

रागी भाइयों ने किया शबद गायन

पंडरी गुरुद्वारा में बुधवार को प्रकाश पर्व पर सुबह-शाम पुन: कीर्तन स्वरलहरी गूंजेगी। पंडरी स्थित गुरु गोविंद सिंघ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के इंदरजीत सिंह चावला एवं जसपाल सिंघ सलूजा ने बताया कि कीर्तन दरबार में गंगानगर से भाई गगनदीप सिंघ, रूद्र पुर से भाई गुरुविंदर सिंघ एवं पंडरी गुरुद्वारा के हजूरी रागी भाई हरविंदर सिंघ शबद कीर्तन से साधसंगत को निहाल कर रहे हैं।

स्टेशन रोड में शुरू हुआ सहज पाठ 24 अप्रैल तक चलेगा

स्टेशन रोड गुरुद्वारा गुरुसिंघ सभा के गुरमीत सिंह गुरदत्ता ने बताया कि गुरुद्वारा में मंगलवार को सहज पाठ का शुभारंभ हुआ। यह पाठ तीन महीने तक लगातार चलेगा। घर-घर में भी साधसंगत द्वारा सहज पाठ किया जाएगा। इसका भव्य समापन 24 अप्रैल को होगा।

दिनभर अटूट लंगर

पंडरी गुरुद्वारा में सुबह 8 से 11 और शाम 8 से रात 12 बजे तक शबद कीर्तन सुनने के लिए हजारों लोग उमड़ेंगे। कोरोना नियमों का पालन करते हुए बारी-बारी से मत्था टेककर आशीर्वाद लेंगे। श्रद्धालुओं के लिए अटूट लंगर में प्रसादी वितरित की जाएगी।

Posted By: kunal.mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags