रायपुर। Struggle In Lockdown: कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने लगभग सभी वर्ग को झकझोर दिया है। कोरोना की पहली लहर की तरह दूसरी लहर भी गरीबों और छोटे कारोबारियों पर भारी पड़ रही है। वे जो धंधा करते थे वह बंद हो गया है। मजबूरी में उन्हें दूसरे काम करने पड़ रहे हैं। राजधानी के रामकुंड के रहने वाले राजा नायक के समता कालोनी के पास आटो में सब्जी बेच रहे हैं। लॉकडाउन से पहले वे आटो चलाते थे, अब उसी में सब्जी की दुकान खोल ली है।

अब वे अलग-अलग इलाकों में जाकर सब्जी बेच रहे हैं। उनका कहना है कि इससे किसी तरह पेट भरने लायक पैसा ही मिल रहा है। राजा के परिवार में छह लोग रहते हैं। इसी तरह राजधानी के दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम के पास मोहित कुमार पहले कपड़ा की दुकान चलाते थे, लेकिन कपड़े में कारोबार सही नहीं होने के कारण वह इन दिनों सब्जी बेच रहे हैं। साथ ही फल का ठेला भी लगाते हैं। गौरतलब है कि रायपुर में पिछले नौ अप्रैल से लगातार लॉकडाउन लगा हुआ है।

अभी 31 मई तक यही रहेंगे हालात

राजधानी समेत संपूर्ण छत्तीसगढ़ में प्रशासन ने एक बार फिर अपने यहां लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा दिया है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में, प्रशासन ने 31 मई सुबह छह बजे तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है। हालांकि ये लॉकडाउन कुछ शर्तों के साथ बढ़ाया गया है।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags