रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Chhattisgarh Swine Flu: रायपुर में गुरुवार को स्वाइन फ्लू का एक नया मामला सामने आया है। इस अवधि में दो मरीजों की मौत भी हो गई। इसमें 59 और 39 वर्षीय पुरुष मरीज की स्वाइन फ्लू रिपोर्ट पाजिटिव थी। प्रदेश में अब तक 37 केस मिले हैं। इसमें से स्वाइन फ्लू के 15 मरीज सक्रिय हैं, जिनका इलाज जारी है। बतादें कि प्रदेश के 12 जिलों में स्वाइन फ्लू के मरीज मिले हैं। वहीं, एक दिन में कोरोना के 298 मामले दर्ज किए गए हैं। वर्तमान में राज्य में 2709 मरीज सक्रिय हैं।

निजी अस्‍पतालों में स्वाइन फ्लू के नाम पर जहां टेस्टिंग को लेकर लूट शुरू हो गई है। वहीं सरकारी अस्‍पताल में टेस्टिंग की सुविधा है, लेकिन किट की कमी सामने आ रही है। बतादें कि पं. जवाहर लाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल कालेज (डा. भीमराव आंबेडकर अस्प्ताल) की लैब में महीनों से रिएजेंट किट नहीं है। स्थिति यह है कि लिवर फंग्सन, थायराइड, हार्मोन, स्वाइन फ्लू, सीबीसी, ट्यूमर मार्कर, किडनी व खून से जुड़ी कई तरह की जांचें बंद हो गई है। ऐसे में अस्पताल आने वाले मरीजों की जांच न हो पाने से इलाज प्रभावित हो रहा है।

यह भी पढ़ें : छत्‍तीसगढ़ में मंकी पाक्स का खतरा: सीआइएसएफ के दो और जवानों में मिले शुरुआती लक्षण

स्वाइन फ्लू के लक्षण और बचाव

चिकित्सकों ने बताया कि तेज बुखार के साथ खांसी, नाक बहना, गले में खराश, सिर दर्द, बदन दर्द, थकावट, उल्टी, दस्त, छाती में दर्द, रक्तचाप में गिरावट, खून के साथ बलगम आना व नाखूनों का नीला पड़ना आदि स्वाइन फ्लू के लक्षण हो सकते हैं। बचाव के लिए भीड़-भाड़ वाली जगहों में नहीं जाने, संक्रमित व्यक्ति से दूर रहने तथा नियमित रूप से साबुन से हाथ धोने की सलाह दी है। सर्दी-खांसी वाले व्यक्तियों के द्वारा उपयोग में लाए गए रूमाल और कपड़ों का उपयोग नहीं करना चाहिए। स्वाइन फ्लू के लक्षण पाए जाने पर पीड़ित को 24 से 48 घंटे के भीतर डाक्टर से जांच अवश्य कराना चाहिए।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close