रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्तीसगढ़ में बीते चार सालों में आयकर रिटर्न दाखिल करने के प्रति लोगों में जागरुकता काफी बढ़ती जा रही है। इस बात का अंदाजा भी इससे लगाया जा सकता है कि वित्तीय वर्ष 2016-17 की तुलना में 2019-20 में अभी तक आयकर रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या चार लाख आठ हजार से ज्यादा हो गई है। हालांकि, बताया जा रहा है कि आयकर विभाग ने कर संचय का लक्ष्‌य थोड़ा कम कर दिया है। आयकर विभाग द्वारा बीते कुछ सालों से कर चोरों पर कार्रवाई करने के साथ ही आयकर रिटर्न भरने और इमानदारी से टैक्स जमा करने के लिए जागरूकता अभियान भी चला रहा है।

करदाता बढ़े, लेकिन कर संचय हुआ कम

कर विशेषज्ञों से मिली जानकारी के अनुसार, भले ही प्रदेश में करदाताओं की संख्या बढ़ी है, लेकिन टैक्स कलेक्शन कम हो गया है। सूत्रों के अनुसार, 2019-20 का टैक्स कलेक्शन अनुमानित 5,300 करोड़ रुपये है और 2020-21 के लिए यह घटाकर 4,500 रुपये करोड़ के आस-पास कर दिया गया है। वित्तीय वर्ष 2018-19 में विभाग का लक्ष्‌य 6,400 करोड़ रुपये से अधिक था, लेकिन कलेक्शन लगभग 5,800 करोड़ रुपये के आसपास रहा।

फैक्ट फाइल

वित्तीय वर्ष रिटर्न दाखिल

2016-17 6,50,050

2017-18 7,75,608

2018-19 10,65,714

2019-20(31 मार्च तक) 10,58,000

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020