रायपुर (राज्य ब्यूरो)। 15 वर्ष के लंबे इंतजार के बाद करीब तीन वर्ष पहले सत्ता में आई कांग्रेस में विरोध के स्वर मुखर होने लगे हैं। कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोलने सरगुजा संभाग के दौरे पर निकले पार्टी के प्रभारी सचिव सप्तगिरि उल्का को जगह-जगह कार्यकर्ताओं के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा नाराजगी पैराशूट से लैंडिंग करने वाले यानी दूसरी पार्टियों से कांग्रेस में आने वाले नेताओं को तवज्जो दिए जाने की वजह से है।

बलरामपुर के बाद उल्का शुक्रवार को अंबिकापुर पहुंचे। वहां कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने ढाई-ढाई साल के फार्मूले, विधायक की अनुशासनहीनता, भाजपा और अन्य दलों से आए विरोधियों की संगठन में पैराशूट लैंडिंग और कार्यकर्ताओं को सम्मान न मिलने पर नाराजगी जताते हुए यहां तक कह दिया कि 'स्थिति नहीं सुधरी तो पिछले परिणाम को दोहराने की बात भूल ही जाइए।

एआइसीसी सचिव ने एनएसयूआइ, युवक कांग्रेस, महिला कांग्रेस और जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ अलग-अलग संवाद कर कार्यकर्ताओं की बातें सुनी। उन्होंने कहा कि ढाई-ढाई साल का मुद्दा हाईकमान का विषय है। इस पर मैं नहीं बोलूंगा। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव सब कुछ बोल चुके हैं। मीडिया से चर्चा करते हुए उल्का ने कहा कि कार्यकर्ताओं ने अपनी बात रखी है।

कांग्रेस बड़ा संगठन है। थोड़ी बहुत ऊंच-नीच होती रहती है लेकिन अनुशासनहीनता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कार्यकर्ताओं से जो फीडबैक मिला है उसे हाईकमान के पास रखूंगा। उम्मीद है सभी समस्याओं का समाधान हो सकेगा। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता संगठन की रीढ़ है। मुझे खुशी हुई कि आदिवासी बहुल सरगुजा में कांग्रेस संगठन इतना मजबूत है।

मंत्रियों व विधायकों को इशारों में दी नसीहत

प्रभारी सचिव ने इशारों ही इशारों में विधायकों और मंत्रियों को नसीहत दे डाली। उन्होंने कहा कि जल्दी ही सबको चुनाव में जाना है कोई भी विधायक और सांसद तभी रहेगा जब जीत कर सदन में आएगा। बूथ लेबल के कार्यकर्ताओं के बिना जीत की कल्पना बेमानी है।

हारे हुए उम्मीदवार भी पार्टी ने नाखुश

पार्टी संगठन में महत्व नहीं मिलने से विधानसभा चुनाव में हारे गए पार्टी के उम्मीदवार भी नाखुश हैं। हाल ही में उनकी राजधानी के एक होटल में बैठक हुई थी। इसमें उन्होंने पार्टी प्रत्याशियों की हार के लिए जिम्मेदार नेताओं को तवज्जो दिए जाने पर नाराजगी जाहिर की थी।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local