रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

आज शहर में घर और ऑफिस, दुकान समेत अन्य भवनों की साज-सज्जा करते हैं। जहां बढ़ती हुई जनसंख्या और बढ़ती महंगाई के कारण लोगों के रहने के स्थानों में कमी तो आई है। अब लोगों को व्यवस्थित, सुंदर और सुरुचिपूर्ण ढंग से रहने की आदतें बढ़ी हैं। इधर महंगाई के कारण कई लोग इंटीरियर डिजाइन नहीं कर पाते हैं, लेकिन अब बदलते वक्त में कई लोग इंटरनेट की सहायता कम बजट में घर का इंटीरियर डिजाइन कर रहे हैं। इसके अलावा शहरों में अभी हैंड सेकंड चीजों से सजाकर लोग नया लुक रहे हैं।

शहर इंटीरियर डिजाइर कमल कृष्णानी ने बताया कि आज लोग पुराने सामान को फेंकने के बजाय अधिकांश लोग रेस्ट्रोरेट सहित घरों में इटीरियर डिजाइन करवा रहे। कुछ दिन पहले रायपुर के राजेंद्र नगर के एक रेस्टोरेट में सिर्फ पुराने सामान से इंटीरियर डिजाइन कराया है। इसके अलावा अभी कई जगह पर पुराने सामान से कार्य किया जा रहा है।

इंटरनेट की सहायता से कम बजट में तैयार हो रहा डिजाइन

मालूम हो कि अभी इंटरनेट में लोग अपने घरों की डिजाइन में मदद रहे हैं। लोग कम बजट में इंटीरियर डिजाइनिंग करना पसंद करते हैं। इंटीरियर डिजाइनिंग के लिए कई वेबसाइट में जाकर डिजाइन का काम करा रहे हैं। इसके अलावा इंटरनेट की सहायता से डिजाइन जैसे मछली, प्लांट्स, सूरज की रोशनी चमकिला, सजावट में फैब्रिक और फ्लोरिंग जैसे कई तरह जानकारी मुहैया करा रही है।

पार्टिशन बोर्ड का इस्तेमाल

घर को खास लुक में देने के लिए पार्टिशन बोर्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं। इंटीरियर डिजाइनर कमल कृष्णानी ने बताया कि इनका एक फायदा यह भी है कि ये बोर्ड आम दीवारों की अपेक्षा काफी किफायती हैं। इसके बाद इसका एक खासियत यह है कि लोग जब कभी बदलाव भी करवा सकते हैं। वहीं देखा जाए घर के इंटीरियर को खूबसूरत बनाना हो तो पार्टीशन बोर्ड से मदद ले सकते हैं। इसके अलावा बिना ईटों की दीवार में लुक देने के लिए और कम खर्चे में एक कमरा तैयार करवाने में पार्टीशन बोर्ड बेहतर विकल्प होता है।

पुराने सामान से घर को सजाकर दे रहे नया लुक

शहर के राजेंद्र नगर में स्थित एक रेस्टोरेट को सिर्फ पुरानों सामान से इंटीरियर डिजाइनिंग का काम किया है। इसके अलावा घरों में भी इस सेंकेड चीजों से नया लुक और अपने पैसे भी बचा रहे है। बता दें कि कुछ समय से लोगों में पुराने सामनों यूज करने लगे हैं। जहां गार्डन में लोगों को आकर्षित करने के लिए टायरों में रंग-रोगन का कार्य किया है। इसके पुराने टेबल, कुर्सी, सोफा सेट पुराने चीजों इंटीरियर डिजाइन का काम करते हैं।

शहर में इंटीरियर डिजाइन का क्रेज बढ़ा है। आने वालों दिनों में इस काम और तरह के बदलाव देखने को मिल रहे हैं। अभी सबसे बड़ी बात यह है कि शहर में सेकंड चीजों से लोगों इंटीरियर डिजाइन का कार्य करना पसंद कर रहे हैं।

- कमल कृष्णानी, इंटीरियर डिजाइनर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020