रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि ) The Taste of Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ी व्यंजनों चीला, फरा, गुलगुल भजिया, सोहारी, ठेठरी, खुरमी और चौसेला का स्वाद देश की राजधानी दिल्ली तक पहुंचेगा। ये व्यंजन महिलाओं के स्वयं सहायता समूह द्वारा संचालित रेस्टोरेंट 'गढ़कलेवा' (व्यंजनों का भंडार) में परोसे जाते हैं। प्रदेश के 28 जिलों में 'गढ़कलेवा" का विस्तार करने के बाद इसे राष्ट्रीय राजधानी के साथ-साथ अन्य प्रदेशों में भी विस्तारित करने की योजना तैयार की गई है। संस्कृति विभाग के सहयोग से जल्द ही दिल्ली स्थित छत्तीसगढ़ सदन से इसकी शुरुआत की जा रही है।

फिलहाल कोरोना महामारी को देखते हुए यहां शुरुआत नहीं जा सकी है। अब संस्कृति विभाग के अधिकारी इस दिशा में जल्द ही निर्णय लेने वाले हैं। बता दें कि गढ़कलेवा में प्रदेश के मैदानी क्षेत्र समेत सरगुजा और बस्तर अंचल कई व्यंजनों का स्वाद ले सकते हैं। यहां पूरी तरह से छत्तीसगढ़ से जुड़ा हुए व्यंजन गढ़कलेवा में तैयार किया जाता है।

इस तरह व्यंजन का उठा सकते हैं लुत्फ

प्रदेश के गढ़कलेवा (रेस्टोरेंट) में छत्तीसगढ़ी व्यंजनों, चीला, फरा, गुलगुल भजिया, सोहारी, ठेठरी, खुरमी और चौसेला का स्वाद चखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। यहां स्वच्छता और सेवाभाव के साथ महिलाओं द्वारा तैयार व्यंजनों की अच्छी खासी मांग है।

संस्कृति विभाग के संचालक विवेक आचार्य ने कहा कि गढ़कलेवा का स्वाद अन्य राज्यों में फैलाने के लिए चर्चा की जा रही है।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local