बिलासपुर। Bilaspur Train Accident शहर के चुचुहियापारा इलाके में निर्मांणाधीन अंडर ब्रिज के ऊपर क्रेन गिरने और रेल ट्रैक जाम होने की घटना के बाद रेलवे ने भले डाउन लाइन पर परिचालन शुरू कर दिया है, लेकिन ट्रैक की नीचे की सतह अभी भी कमजोर, मिट्टी धंसने का खतरा अब भी बना हुआ है। इसे देखते हुए ट्रेनों की रफ्तार पर अंकुश लगाया गया है। कोचिंग ट्रेन घटना स्थल से गुजरते हुए केवल 20 किमी प्रति घण्टे की स्पीड पर रहेंगी। इसके साथ ही केवल खाली मालगाड़ी को ही इस लाइन से गुजरने की अनुमति दी गई है। लोड मालगाड़ी पूरी तरह प्रतिबंधित है। अप लाइन दोपहर तक सामान्य होने की संभावना। हावड़ा से आने वाली सुबह की ट्रेनें बाइपास व मिडिल लाइन से चली। क्रेन उठाने के लिए दूसरी मशीन लाने की तैयारी हो रही है। वहीं रात 12 बजे के बाद मिडिल लाइन को सामान्य किया गया। रात 10.30 बजे डाउन लाइन पर ट्रेनें चलनी शुरू हुई थी। लाइन क्रमांक सात से लेकर 10 अभी भी बंद है।

बिलासपुर-गतौरा रेल खण्ड पर रेल यातायात सामान्य

बुधवार 13 नवम्बर’ 2019 को बिलासपुर स्टेशन के समीप चुचुहिया पारा फाटक पर रोड अंडर ब्रिज के लिए किए जा रहे निर्माण कार्य के दौरान क्रेन के गिर जाने की वजह से बिलासपुर-गतौरा सेक्शन में बाधित रेल यातायात को सामान्य किया गया है । इस मार्ग पर अप, मिडिल एवं डाउन तीनों लाइन में सुधार कार्य पुरा कर प्रातः 05.45 बजे से रेल यातायात को सामान्य रुप से संचालित किया जा रहा है ।

दुर्ग से बिलासपुर स्टेशन होकर कटनी की ओर जाने वाली कुछ एक्सप्रेस ट्रेनों को आज व्हाया दाधापारा-उसलापुर बायपास होकर गंतव्य के लिए रवाना की जाएगी जिसकी विस्तृत जानकारी इस प्रकार है:-

दिनांक 14 नवम्बर’ 2019 को दुर्ग से छूटने वाली 12823 दुर्ग-निजामुद्दीन, छ.ग. संपर्कक्रांति एक्सप्रेस बिलासपुर स्टेशन के स्थान पर व्हाया दाधापारा-उसलापुर बायपास होकर गंतव्य के लिए रवाना होगी ।

• दिनांक 14 नवम्बर’ 2019 को दुर्ग से छूटने वाली 12853 दुर्ग-भोपाल, अमरकंटक एक्सप्रेस बिलासपुर स्टेशन के स्थान पर व्हाया दाधापारा-उसलापुर बायपास होकर गंतव्य के लिए रवाना होगी ।• आज दिनांक 14 नवम्बर’ 2019 को दुर्ग से छूटने वाली 15160 दुर्ग-छपरा, सारनाथ एक्सप्रेस बिलासपुर स्टेशन के स्थान पर व्हाया दाधापारा-उसलापुर बायपास होकर गंतव्य के लिए रवाना हुई।

गौरतलब है कि बुधवार की शाम बिलासपुर स्टेशन के पास चुचुहियापारा अंडरब्रिज निर्माण कार्य में लगा क्रेन जमीन धंसने से अनियंत्रित होकर रेलवे ट्रैक में गिर गया। इस हादसे में तीन से चार लाइन का ओएचई तार टूट गया।

वहीं क्रेन की चपेट में आकर तीन रेलकर्मी व पांच मजदूर घायल हो गए थे। घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस घटना के बाद मुंबई-हावड़ा मेन लाइन पर कई घंटों तक ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा था। अधिकांश ट्रेनों को स्टेशनों पर खड़ा कर दिया गया था। करीब 4 घंटे बाद बाइपास लाइन से ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ था।

Posted By: Nai Dunia News Network