रायपुर। शहर के 15 सरिया कारोबारियों से 50 करोड़ रुपये की ठगी मामले में उतराखंड से गिरफ्तार कर रायपुर लाए गए पिता-पुत्र से पूछताछ में पुलिस को कई अहम जानकारी हाथ लगी है। आरोपित सुरेश मित्तल और उसके बेटे स्वप्निल मित्तल ने ठगी के इस खेल में रायपुर और महाराष्ट्र के तीन अन्य आरोपितों के शामिल होने की जानकारी दी है। लिहाजा पुलिस की टीम अब महाराष्ट्र के अलग-अलग शहरों में छिपे आरोपितों को घेरे में लेने के लिए रवाना हुई है।

इस प्रकरण में पिता-पुत्र के अलावा एक अन्य आरोपित को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। पिता-पुत्र ने शहर के सरिया कारोबारियों को विश्वास में लेकर उधार में 50 करोड़ का सरिया उधार में लेकर उसे नागपुर निवासी कारोबारी संतोष साहू उर्फ बंटी को बेचकर पूरा पैसा हजम कर जाते थे। संतोष साहू के खिलाफ भी आजाद चौक थाने में ठगी का केस दर्ज है। फिलहाल वह जमानत पर है। यही नहीं, नागपुर के लकड़गंज, कलम्ना में बलवा, ठगी, चोरी, रेलवे और विद्युत अधिनियम समेत एक दर्जन से अधिक अपराधिक प्रकरण में संतोष साहू वांटेड है।

आजाद चौक थाना पुलिस के मुताबिक एसएम शाप के डायरेक्टर स्वप्निल मित्तल के कारोबार में पार्टनर के रूप में रायपुर के पीयूष राठी और विक्रम सिंह थे। फिलहाल स्वप्निल और उसके पिता के पकड़े जाने की खबर मिलते ही दोनों पार्टनर अपने-अपने परिवार के साथ महाराष्ट्र में फरारी काट रहे हंै। ठगी के खेल में शामिल पार्टनरों के अलावा संतोष साहू उर्फ बंटी की तलाश में पुलिस टीम महाराष्ट्र के अलग-अलग शहरों में कैंप कर रही है। तीनों के पकड़े जाने से ठगी के कई और राजफाा हो सकते हैं।

एक दूसरे को बता रहे मास्टर माइंड

पकड़े गए स्वप्निल मित्तल ने पूछताछ में संतोष साहू उर्फ बंटी को ठगी मामले का मास्टर माइंड बताया है। उसका कहना है कि संतोष ने सरिया लेकर उसके पैसे नहीं दिए, इसके कारण पैसे के लिए शहर के कारोबारियों का दबाव लगातार बढ़ रहा था। जब संतोष से पैसे मांगे तो उसने देने से साफ इन्कार कर दिया। वहीं संतोष ने स्वप्निल को ठगी का मास्टर माइंड बताया है।

आइपीएल सट्टे में हारा करोड़ों

एएसपी क्राइम अभिषेक माहेश्वरी ने नईदुनिया को बताया कि पूछताछ में पता चला कि स्वप्निल मित्तल आइपीएल क्रिकेट मैच में सट्टे लगाता था। घर का लाखों रुपये सट्टे में हारने के बाद उसने सरिया कारोबारियों से उधार में सरिया लेकर उसे संतोष साहू को बेचा और पैसे लेकर नागपुर में ही क्रिकेट मैच में सट्टे में दांव लगाता गया। सट्टे में लगातार हारने के कारण उस पर करोड़ों रुपये की देनदारी हो गई। जब कारोबारियों ने स्वप्निल मित्तल पर पैसे देने दबाव बनाना शुरू किया तो वह पिता के साथ फरार हो गया।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close