रायपुर। छत्तीसगढ़ में राजनांदगांव जिले के खैरागढ़ में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। अब धीरे-धीरे मौत के आंकड़े में इजाफा होने लगा है। यहां शनिवार सुबह एक दुर्गा चौक के एक रिटायर्ट कर्मचारी, फिर रात में बख्शी मार्ग की लतारानी गुप्ता (65) की एम्स मौत हो गई थी। वही रविवार की सुबह एक और मौत हो गई। इस बार एक 55 वर्षीय शिक्षक ने दमतोड़ा है। अब कोरोना से मरने वालों की संख्या बढक़र नौ हो गई। यह पिछले 24 घंटों में तीसरी मौत है। शहर के शिव मंदिर रोड में निवास करने वाले नरेन्द्र भारद्वाज ने स्पर्श हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली है।

बताया जा रहा है कि उसे पहले 26 नवंबर को खैरागढ़ सिविल अस्पताल में भर्ती कराया था। उसके बाद ज्यादा तबीयत बिगड़ने के बाद परिजनों ने उसी रात तीन बजे स्पर्श हॉस्पिटल ले गए थे। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली है। मृतक पेशे से एक शिक्षक है। इधर शनिवार रात कोरोना से अपनी जान गंवाने वाली लतारानी गुप्ता का कृषि उपज मंडी में पूरे एहतियात के साथ रविवार शाम पांच बजे अंतिम संस्कार किया गया।

अब तक यहां हुई मौत

शहर में सबसे पहले वार्ड सात दिवान बाड़ा में एक अधिवक्ता की मौत हुई थी। उसके बाद पिपरिया में सर्पदंश से मरने वाले युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। यह कोरोना से दूसरी मौत थी। उसके बाद लालपुर में एक बुजुर्ग कोरोना का तीसरा शिकार बना। इसके बाद दामरी, वार्ड तीन गंजीपारा और अंबेडकर वार्ड में एक-एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो चुकी है। जबकि शनिवार को दुर्गा चौक और बख्शी मार्ग की निवासी कोरोना संक्रमित की मौत हुई। वही अब शिव मंदिर रोड के रहने वाले एक शिक्षक की भी कोरोना से मौत हुई है।

लक्षण नजर आते ही जांच कराएं

स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या में रखते हुए लोगों से जांच कराने की अपील की है। उनका कहना है कि कोरोना मरीजों की संख्या बिगड़ने का एक बड़ा कारण संक्रमण के लक्षण नजर आने के बाद भी इलाज के लिए अस्पताल नहीं जाना है। जब हालात अधिक बिगड़ते हैं, तब परिजन मरीज को लेकर भागते हैं, मगर तब तक देर हो जाती है। अगर नागरिक जागरूक हो जाए और लक्षण भर नजर आने पर सैंपल देने के लिए आगे आएं, तो पाजिटिव केसों की संख्या भी बढ़ेगी, वही समय रहते उनका उपचार भी किया जा सकेगा।

रविवार को निकले छह मरीज

शहर सहित अंचल में कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रहा है। रोजाना गुच्छे में कोरोना मरीज सामने आ रहे हैं। इसके बाद भी शहर में जागरूकता नहीं देखी जा रही है। लोगों की लापरवाही के आगे प्रशासन की व्यवस्था बेकार साबित हो रही। हालांकि कोरोना को लेकर रविवार को राहत भरी खबर रही। जहां सिर्फ छह मरीज सामने आए हैं। इसमे तीन शहर और ग्रामीण एरिया में भी तीन लोग संक्रमित पाए गए हैं।

-----------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस