कादिर खान. रायपुर (नईदुनिया)। बढ़ती महंगाई के बीच बेरोजगारी दर के आंकड़े भी चिंता पैदा करने वाले हैं। राज्य स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक ऐसे ही संकेत मिल रहे हैं। राष्ट्रीय औसत की तुलना में छत्तीसगढ़ काफी बेहतर स्थिति में हैं। जहां जून 2022 में देश में बेरोजगारी दर 7.8 प्रतिशत दर्ज की गई तो वहीं प्रदेश में बेरोजगारी का आंकड़ा मात्र 1.2 प्रतिशत ही रहा।

इस तरह राष्ट्रीय औसत से छत्तीसगढ़ छह गुना से भी ज्यादा बेहतर है। हरियाणा जैसे शीर्ष राज्य में 30.6 प्रतिशत बेरोजगारी की दर बताती है कि वहां कि तुलना में प्रति व्यक्ति आय भले ही कम हो परंतु छत्तीसगढ़ में लोगों को काम के अवसर ज्यादा हैं। पड़ोसी सात राज्यों की तुलना में देखें तो मध्य प्रदेश ही 0.5 प्रतिशत बेरोजगारी दर के साथ हमसे बेहतर है।

देश में बेरोजगारी दर (आंकड़े प्रतिशत में)

वर्ष मई जून

2016 9.7 8.9

2017 4.0 4.1

2018 5.1 5.8

2019 7.0 7.9

2020 21.7 10.2

2021 11.8 9.2

2022 7.1 7.8

राज्य में बेरोजगारी दर (आंकड़े प्रतिशत में)

वर्ष मई जून

2016 5.4 4.6

2017 4.5 2.0

2018 4.3 2.4

2019 9.8 8.1

2020 10.5 14.2

2021 8.0 2.6

2022 0.7 1.2

जून 2022 में सबसे ज्यादा बेरोजगारी दर वाले राज्य

हरियाणा - 30.6 प्रतिशत

राजस्थान - 29.8 प्रतिशत

पड़ोसी राज्यों की बेरोजगारी दर पर एक नजर

मध्य प्रदेश - 0.5

तेलंगाना- 10.0

आंध्र प्रदेश - 4.4

ओडिशा - 1.2

महाराष्ट्र- 4.8

झारखंड - 12.2

उत्तर प्रदेश- 2.8

महंगाई दर में पेट्रोल-डीजल का हिस्सा 30 प्रतिशत

पेट्रोल और डीजल की कीमतों ने अप्रैल 2022 में खुदरा महंगाई दर की वृद्धि में करीब 30 प्रतिशत अंशदान दिया है। बता दें कि अप्रैल में महंगाई दर 0.84 प्रतिशत बढ़कर 7.79 प्रतिशत हो गई, जो मार्च में 6.95 प्रतिशत थी। इसकी वजह से यह लगातार चौथा महीना बन गया था, जब कीमतों में बढ़ोतरी की दर भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा महंगाई की छह प्रतिशत की ऊपरी सीमा से ज्यादा है।

कुल महंगाई दर में वाहनों के लिए पेट्रोल की कीमत 10.72 प्रतिशत बढ़ी है, वहीं डीजल की कीमत 11.04 प्रतिशत बढ़ी है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआइ) में वाहनों के लिए पेट्रोल का अंशदान 2.18697 प्रतिशत और डीजल का योगदान 0.14800 प्रतिशत है। इस तरह से सीपीआइ में दोनों का मिलाकर अधिभार 2.3 प्रतिशत है।

हम आगे भी उपलब्ध कराएंगे रोजगार के अवसर

देश के अन्य राज्यों की तुलना में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए बेरोजगारी दर में लगातार कमी दर्ज की है। हम आगे भी रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगे और बेरोजगारी दर में कमी लाने का प्रयास किया जाएगा। हमने कोरोना काल में भी बेहतर प्रदर्शन किया है। गोधन न्याय के साथ अन्य योजनाओं के माध्यम से प्रति व्यक्ति आय में भी इजाफा हुआ। -सुशील सन्‍नी अग्रवाल, अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार मंडल

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close