रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राजधानी में साफ-सफाई की मौजूदा स्थिति की पड़ताल करने शनिवार को नगर निगम की सचिव सुबह से कई वार्डों का औचक निरीक्षण किया। वहीं इस दौरान जोन आठ, पांच, छह के कई वार्डों में फैली गंदगी को देखकर विभागीय आधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। साथ ही मौजूदा स्थिति में तुरंत सुधार करने के निर्देश दिए। निगम के आसपास स्थिति जोन के वार्डों को छोड़कर बाकी अन्य सभी वार्डों में सफाई आदि व्यवस्था चरमरा गई है। त्योहारी के बाद कई वार्डों में गंदगी फैली हैं, लेकिन कर्मचारियों के सुस्तपन से गंदगी का ढेर लगा है। गौरतलब है कि पिछले दिनों ही मुख्य सचिव ने प्रदेश के सभी नगरीय निकायों को पत्र लिखकर साफ-सफाई पर फोकस करने के लिए कहा था, लेकिन सुश्री अलरमेलमंगई डी., विशेष सचिव ( नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के आदेशों को लेकर निगम में कोई प्लानिंग नहीं है। इसके कारण कई वार्डों में दौरा के दौरान गंदगी दिखी।

निर्देशों का दिखाया अंगूठा

औचक निरीक्षण के दौरान जिस प्रकार से जोन आठ के वार्डों समेत तालाबों के आसपास गंदगी फैली है। इससे साफ जाहिर होता है कि जोन कमिश्नर से लेकर आयुक्त तक विशेष सचिव के जारी निर्देशों को अंगूठा दिखा रहे हैं, जबकि जारी निर्देश में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि निगमों में सफाई व्यवस्था में तत्काल आवश्यक सुधार किया जाए। त्योहार के बाद वार्डों में फैली गंदगी को ढेर लगने से पहले ही उठाया जाए। नगर निगम आयुक्त का यह दायित्व होगा कि उनके क्षेत्र में शत-प्रतिशत डोर टू डोर ठोस अपशिष्ट प्रबंधन हो। शहर में किसी भी स्थान अथवा मार्ग पर कचरा एकत्रित न रहे।

हफ्ते भर का दिया समय

वार्डों में फैली गंदगी को जल्द से जल्द सुधार करने के लिए विशेष सचिव ने निगम आयुक्त, जोन कमिश्नर ने हफ्ते भर का समय दिया है। साथ ही दुबारा औचक निरीक्षण करने की बात कही। विभागीय सूत्रों की माने तो सुधार नहीं होने पर उचित कार्रवाई करने की भी बात कही। वहीं औचक निरीक्षण के दौरान आयुक्त, सहायक आयुक्त, जोन आठ के कमिश्नर सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

आयुक्तों को ये निर्देश दिए गए

-शहर में पथ प्रकाश आदि की व्यवस्था सुचारु रूप से चले, ऊर्जा की बचत के लिए समय पर इन्हें बंद किया जाए।

-सड़क निर्माण एवं मरम्मत का कार्य प्राथमिकता पर लिया जाए। शहर में सड़कों के क्षरण के कारण बने गड्ढों की तत्काल मरम्मत हो ।

-पेयजल व्यवस्था का सुचारु संपादन सुनिश्चित किया जाए तथा इससे संबंधित शिकायतों का निदान समय सीमा में किया जाए

Posted By: Nai Dunia News Network