रायपुर। Corona Pandemic: राजधानी में कोरोना के भयावह स्थिति को लेकर बुधवार को भाजपा नेताओं ने कलेक्टर रायपुर से चर्चा की। प्रशासन द्वारा पर्याप्त समय मिलने पर भी वेंटीलेटर, आक्सीजन, बेड की व्यवस्था नहीं हो पाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि रायपुर को 10 हजार बेड की तत्काल आवश्यकता है। इस दिशा में काम किया जाना चाहिए। विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, सांसद सुनील सोनी, जिलाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी, महामंत्री रमेश ठाकुर एवं नगर पालिक निगम रायपुर की नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे ने कलेक्टर से कोरोना के व्यवस्थाओं को लेकर चर्चा की।

उन्होंने पुरानी व्यवस्थाओं के तहत पूर्व में प्रारंभ हुए सभी पांच क्वारंटाइन सेंटर को तत्काल प्रारंभ करने कहा। प्रशासन ने आज तक इन सेंटरों को चालू करने के लिए कोई ठोस कार्यवाही नहीं की है। पांच सेंटर पहले चरण में खुला था और भीषण स्थिति है तब एक सेंटर आधा अधूरा चालू किया जा रहा है।

केंद्र सरकार ने उपलब्ध कराए हैं 230 वेंटिलेटर

भाजपा नेताओं ने कहा कि केन्द्र सरकार ने रायपुर में 230 वेंटिलेटर उपलब्ध कराए हैं, पर आज महीनों बाद भी इन वेंटिलेटर का उपयोग प्रारंभ नहीं किया जा सका है। वेंटिलेटर डिब्बों में बंद पड़ा है। प्रदेश में मरीज वेंटिलेटर के अभाव में दम तोड़ रहे है। जो दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रतिनिधिमंडल ने कहा पूरे शहर में लोग ईलाज के लिए भटक रहे है। मरीजों को बेड, ऑक्सीजन व वेंटिलेटर उपलब्ध नहीं हो पा रहा है।

मौत का आंकड़ा हजारों में हो गया है, यह चिंतनीय स्थिति है। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि शहर में स्थित कालेजों, स्कूलों के छात्रावासों, सामाजिक एवं सामुदायिक भवनों धर्मशालाओं को तत्काल कोविड केयर सेंटर के रूप में प्रारंभ करें। वहीं जैनम, लालपुर हास्पिटल, मारूति मंगलम, माहेश्वरी भवन, पंजाब केसरी भवन में तत्काल ऑक्सीजन की व्यवस्था कर इन सभी सेंटरों को तैयार करें।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags