रायपुर। Lockdown In Raipur: कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते शुक्रवार शाम से रायपुर में लगाए जाने वाले दस दिनों के लॉकडाउन का असर यह हुआ गुरुवार सुबह से ही राजधानी के सब्जी बाजारों में खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी। खरीदारी करने उतरी इस ताबड़तोड़ भीड़ में शारीरिक दूरी के नियमों की तो धज्जियां ही उड़ गईं। दस दिनों तक फल, सब्जियां न मिलने को देखते हुए सब्जियों की पर्याप्त आवक होने के बाद भी कीमतों में जबरदस्त तेजी आ गई।

बीते चौबीस घंटे पहले जो टमाटर 10 रुपये किलो मिल रहा था। वहीं टमाटर गुरुवार को 40 से 60 रुपये किलो तक बिका। साथ ही थोक में 100 रुपये कैरेट में बिकने वाला टमाटर 600 रुपये कैरेट बिका। टमाटर के साथ ही दूसरी सब्जियों के दाम भी आसमान पर पहुंच गए।

गोलबाजार, भाटागांव, आमापारा से लेकर डूमरतराई थोक सब्जी बाजार में गुरुवार सुबह से ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बुधवार तक 40 रुपये किलो में मिलने वाली भिंडी 80 रुपये किलो, गोभी 60 से 70 रुपये किलो, पत्ता गोभी 40 से 50 रुपये किलो, गवारफल्ली 60 रुपये किलो तक बिकी।

शुक्रवार सुबह भी सब्जी बाजारों में इसी तरह की रौनक रहने की उम्मीद है। थोक सब्जी व्यावसायी संघ के अध्यक्ष टी श्रीनिवास रेड्डी ने बताया कि सब्जियों की आवक तो पर्याप्त हुई है, लेकिन होने वाले लॉकडाउन को देखते हुए चिल्हर में मनमानी की गई है।

आलू-प्याज भी बिके 50 रुपये किलो

बुधवार तक जो आलू-प्याज की कीमत 15 से 20 रुपये किलो थी। गुरुवार सुबह से ही बाजारों में इनकी कीमत 40 से 50 रुपये किलो हो गई। आलू-प्याज ज्यादा दिनों तक चलने के कारण लोगों ने इसकी जबरदस्त खरीदारी भी की। बताया जा रहा है कि इनकी आवक में किसी भी प्रकार से कोई कमी नहीं है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags